प्रांजल पाटिल आईएएस जीवन परिचय विकिपीडिया pranjal patil biography in hindi - Top.HowFN

प्रांजल पाटिल आईएएस जीवन परिचय विकिपीडिया pranjal patil biography in hindi


प्रांजल पाटिल ब्लाइंड आईएएस जीवन परिचय जुनून हौसले और त्याग का बेहतरीन उदाहरण जो हर इंसान को जान लेना चाहिए मुंबई के पास में उल्लाहसनगर में रहने वाली 26 साल की प्रांजल पाटिल ने यूपीएससी की परीक्षा में 773 वां रैंक हासिल कि है अब आप भारत की पहली पहली नेत्रहीन महिला आईएएस बन गयी है

Pranjal patil wikipedia - जन्मस्थान वडाजी गाँव, जलगाँव, महाराष्ट्र


राशि - मेष
राष्ट्रीयता - भारतीय
गृह - उल्हासनगर, महाराष्ट्र
स्कूल- कमला मेहता दादर स्कूल, मुंबई
• चंडीबाई हिम्मतलाल मनसुखानी, उल्हासनगर, महाराष्ट्र
कॉलेज / विश्वविद्यालय • सेंट जेवियर्स कॉलेज, मुंबई
• जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU)

pranjal patil biography in hindi 


शैक्षिक योग्यता • बैचलर ऑफ आर्ट्स (बीए) सेंट जेवियर्स कॉलेज, मुंबई से
• जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) से मास्टर ऑफ आर्ट्स (MA)
• जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) से मास्टर ऑफ फिलॉसफी (M.Phil)
• जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) से अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में पीएचडी
धर्म हिंदू
शौक किताबें पढ़ना


pranjal patil ias marks 


हिम्मत हौसला और इरादा हो तो कैसे भी शारीरिक अक्षमता आपको कामयाबी के रास्ते पर आगे बढ़ने से नहीं रोक सकती आंखों से दिखाई नहीं देता लेकिन पहली बार में यूपीएससी पास की, इनकी प्रारंभिक पढ़ाई ब्रेल लिपि में हुई।

चंदा भाई कौलेज से आर्ट्स में 12वीं कि और वहा 85% मार्क्स मिले थे । उसके बाद BA की पढ़ाई के लिए प्रांजल ने मुंबई के सेंट जेवियर कॉलेज में एडमिशन लिया था ।

एक मराठी TV के लिए इंटरव्यू में प्रांजल ने बताया कि वह रोजाना उल्लासनगर से CST तक का सफर करती थी

pranjal patil age pranjal patil ias marksheet हर बार कुछ लोग उनकी मदद करते थे । वह सड़क पार करते थे तो कभी उन्हें ट्रेन में बिठा देते थे , लेकिन कुछ लोग ऐसे भी थे जो तमाम सवाल पूछा करते थे ।

वह कहते थे कि रोज इतनी दूर करने के लिए क्यों आती हो उल्लास नगर में । वही क्यों नहीं पढ़ लेती लेकिन प्रांजल उनसे कह देती थी की वह पड़ेगी तो इसी कॉलेज में और इसके लिए वह हर मुश्किल के लिए कमर कस चुकी है ।

 Pranjal Patil IAS exam preparation : ग्रेजुएशन करने के दौरान प्रांजल और उनके एक दोस्त ने पहली दफा इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस के बारे में एक लेख पढ़ा । प्रांजल ने

यूपीएससी की परीक्षा से संबंधित जानकारी जुटाना शुरू कर दी । उस वक्त प्रांजल ने किसी से जाहिर तो नहीं किया लेकिन मन ही मन आईएएस बनने की ठान ली । ग्रेजुएशन पूरी होतेही प्रांजल दिल्ली पहुची और जेएनयू से MA किया पर प्रांजल के सामने अपना असली लक्ष्य था यूपीएससी परीक्षा की तैयारी।

 साल 2015 में तैयारी शुरु की साथी ही साथ MFIL भी चली रही थी । इस दौरान प्रांजल ने आंखों से अक्षम लोगों के लिए बने खास सॉफ्टवेयर Job excess with speech की मदद ली ।

प्रांजल को अब तक ऐसे लेखन लिखने वाली की जरूरत थी जो उस की रफ्तार के साथ परीक्षा में लिख सके । इस विकल्प की भरपाई विदुषी ने पूरी की, प्रांजल की माने तो परीक्षा के दौरान विदुषी ने उनका बखूबी साथ दिया । प्रांजल बोलती थी तो विदुषी कागज पर उत्तर लिख देती थी , जब भी प्रांजल थोड़ा स्लो होती तो विदुषी उसे डांट भी लगा देती थी । प्रांजल की शादी पेशे से केबल ऑपरेटर को कोमलसिंह पाटिल Pranjal Patil IAS Husband से हुई है

प्रांजल अपनी सफलता का श्रेय माता पिता के अलावा दोस्तों और पति को भी देती है । प्रांजल की सफलता इसलिए भी बड़ी है कि यूपीएससी परीक्षा पास करने के लिए उन्होंने किसी कोचिंग की मदद नहीं ली । प्रांजल कहती है कि वह पढ़ाई को एंजॉय करती है pranjal patil ias officer pranjal patil blind ias pranjal patil wiki pranjal patil parents pranjal patil marks pranjal patil jnu

प्रांजल कहती है कि सफलता आपको प्रेरणा नहीं देती है बल्कि सफलता के लिए किए गए संघर्ष से आपको प्रेरणा मिलती है । लेकिन सफलता जरूरी है क्योंकि तभी दुनिया आपके संघर्ष को तवज्जो देती है । आपके नजरिए और जसबा आप को आगे ले जाती है और हर किसी में क्षमता होती है कि वह एक सुंदर समाज को बना सके हम देश के इस बहादुर बेटी के सुनहरे भविष्य के लिए कामना करते हैं और शुभकामना देते हैं 

No comments

Powered by Blogger.