बुरी तरह 3 छात्रों की मौत आईटीआई का रिजल्ट से पहले polytechnic iti ka result kab aayega - Top.HowFN

बुरी तरह 3 छात्रों की मौत आईटीआई का रिजल्ट से पहले polytechnic iti ka result kab aayega

vppup.in 2019 polytechnic admit card, iti admission form 2019 
 स्ट्रीट लाइट ठीक करते समय iti ओढ़ां के परिसर में बुधवार को लोहे का स्टैंड 11000 हाईटेंशन लाइन को छूने से करंट की चपेट में आए छात्र और दो आउटसोर्सिंग कर्मचारी जिंदा जल गए

हादसे में एक छात्र बुरी तरह झुलस गया, उसे अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है। आईटीआई के इलेक्ट्रिक ट्रेड के इंचार्ज ने चौकीदार की शिकायत पर छात्रों को स्ट्रीट लाइट ठीक करने भेजा था

iti sirsa accident 2019 news


राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान ओढ़ा में तीन दिन से दीवार के साथ लगी एक स्ट्रीट लाइट खराब थी। आईटीआई के चौकीदार सुखदेव ने लाइट ठीक करवाने के संबंध में प्रबंधन को लिखित में दिया था। इस लिखित शिकायत पर कॉलेज वर्ग अनुदेशक प्रेम नागी ने इलेक्ट्रिक ट्रेड इंचार्ज गुरदास को स्ट्रीट लाइट ठीक करवाने के लिए कहा था।

गुरदास ने बुधवार सुबह दो छात्रों को लाइट ठीक करने को भेजा। लाइट ठीक करने जा रहे छात्र लवप्रीत निवासी जंडवाला जाटान और रमेश निवासी नुहियावाली ने खराब स्ट्रीट लाइट वाले पोल से कुछ दूर पड़े लोहे के घोड़े (20 फुट ऊंचा स्टैंड) को खींचने के लिए आउटसोर्सिंग कर्मचारी इंद्रपाल और उसके बेटे केवल सिंह को बुलाया।

चारों ही जब स्ट्रीट लाइट के पोल तक स्टैंड को खींच रहे थे तो उसका एक टायर जमीन में धंसने से टूट गया और स्टैंड ऊपर से जा रही 11000 वोल्ट वाली हाईटेंशन लाइन से टकरा गया। करंट लगने से स्टैंड को पकड़े चारों लोग बुरी तरह झुलस गए और जलने लगे। हादसे में छात्र लवप्रीत, कर्मचारी इंद्रपाल और उसके बेटे केवल सिंह की मौत हो गई।

वहीं, छात्र रमेश बुरी तरह झुलस गया। मौके पर मौजूद शिक्षक गुरदास ने शोर मचाया और लाइट बंद करने को कहा। बिजली काटने में पांच-सात मिनट लग गए। घायल रमेश कुमार को तुरंत सीएचसी ओढ़ां भेजा गया, जहां से उसे अग्रोहा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। एसडीएम कालांवाली, एएसपी और डीएसपी ने मौके पर पहुंचकर जानकारी ली। उधर, इस घटना के बाद प्रिंसिपल राजकुमार की भी हालत बिगड़ जाने की सूचना है।

  Iti prashasan par aarop


बस्ती राम ने बताया कि उसका बेटा इंद्रपाल माली और पोता केवल सिंह सफाई कर्मचारी था। उसने आरोप लगाया कि प्रिंसिपल राजकुमार ने उन्हें स्टैंड खींचने के लिए मजबूर किया जो उनका काम नहीं था। इसलिए प्रिंसिपल राजकुमार पर कार्रवाई की जाए।

पहले मृतकों के परिजनों के बयान पर कॉलेज के वर्ग अनुदेशक (जीआई) प्रेम नागी के खिलाफ लापरवाही का मामला दर्ज किया था। परिजनों की मांग पर दोबारा से मामले में शिकायत के आधार पर केस दर्ज किया जा रहा है।  मामले की जांच की जा रही है। - पवन कुमार, थाना प्रभारी, ओढ़ां

No comments

मोबाइल नो. ना डाले नेट पर सभी को देखेगा सिर्फ अपने विचार दे कमेंट्स बॉक्स में ✓ Notify me क्लिक करले अगले 48 घंटे में जवाव देने का प्रयास करेगे, विज्ञापन कमैंट्स ना करे 1 घंटे के अंदर हटा दी जाएगी विज्ञापन चार्ज पे कर Ads दिखाए

Powered by Blogger.