जिनेवा कन्वेंशन क्या है हिंदी में geneva convention in hindi sandhi narendra modi twitter - Top.HowFN

जिनेवा कन्वेंशन क्या है हिंदी में geneva convention in hindi sandhi narendra modi twitter

what will happen to abhinandan what is geneva convention in hindi geneva sandhi kya hai geneva samjhota kiske beech hua tha जिनेवा कन्वेंशन क्या है हिंदी में जिनेवा कन्वेंशन 1949 हिन्दी भाषा में जिनेवा कन्वेंशन जिनेवा सम्मेलन जेनेवा समझौता जेनेवा संधि क्या है जेनेवा समझौता कब हुआ जेनेवा समझौता क्यों हुआ jeneva samjhota kab hua tha geneva samjhota kya hai geneva samjhota kab aur kiske beech hua tha history of the geneva convention jeneva samjhauta kab hua tha geneva convention 1949 geneva kis desh mein hai जिनेवा कन्वेंशन के अनुसार जो नियम बनाए गए थे उनके मुताबिक दो देशों के बीच टकराव की स्थिति में स्थानीय लोग जो ऐसे किसी संघर्ष का हिस्सा नहीं है उनके साथ अमानवीय व्यवहार नहीं होना चाहिए नियमों के मुताबिक ऐसी किसी भी स्थिति में आम नागरिकों पर किसी भी

आगे पढ़े - कैसे पकडे गये सैनिक अभिनन्दन पूरी कहानी wing commander abhinandan

what is geneva convention in hindi


आता है युद्ध की स्थिति में अगर किसी भी देश का सैनिक पकड़ा जाता है तो उसके साथ अमानवीय व्यवहार नहीं होना चाहिए किसी भी युद्ध बंदी के शरीर के साथ अमानवीय हरकत नहीं की जा सकती है नियम यह कहता है कि सैनिकों के शरीर को शत शत करना उसकी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाना युद्ध के नियमों के खिलाफ है और पाकिस्तान इन सभी नियमों का उल्लंघन एक बार नहीं पहले भी कई बार कर चुका है आपको याद होगा पाकिस्तान हमारे सैनिकों की गिरफ्त में आ जाते हैं उनके साथ अमानवीय व्यवहार करता है उनके शवों के साथ व्यवहार करता है


geneva convention rules hindi pdf


तो इसे जिनेवा कन्वेंशन के तहत बनाए गए नियमों का उल्लंघन माना जाएगा और अगर कोई देश के नियमों का उल्लंघन करता हुआ पाया जाता है तो इसे जिनेवा कन्वेंशन के तहत बनाए गए नियमों का उल्लंघन माना जाएगा और अगर कोई देश के नियमों का उल्लंघन करता हुआ पाया जाता है तो दूसरा देश के खिलाफ


पाकिस्तान में वैसे तो वर्ष 1951 में ही जिनेवा कन्वेंशन पर हस्ताक्षर कर दिए थे लेकिन नियमों को ना मानना उसकी पुरानी आदत है भारत और पाकिस्तान में एक बहुत बड़ा फर्क यह भी है कि भारत मर्यादाओं का पालन करने वाला देश है जो कि पाकिस्तान की सोच में आतंकवाद का जहर भरा हुआ है और फिलहाल स्थिति है कि पाकिस्तान मर्यादाओं की सारी सीमाएं तोड़ कर युद्ध के लिए बेचैन है ऐसे में पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब देना और भी जरूरी है

पाकिस्तान की नजर में शिष्टाचार की कोई अहमियत नहीं है पाकिस्तान को नैतिकता का पाठ पढ़ाने के लिए आज हम भारत के फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ के बयान की मदद लेकर अभी आप 16 दिसंबर 1971 की तस्वीरें देख रहे हैं जब पाकिस्तान के 93 हजार सैनिकों ने भारतीय सेना के सामने सरेंडर किया था आप में से बहुत कम लोग ऐसे होंगे जिन्हें इस बात की जानकारी होगी कि पाकिस्तान के इन 93000 सैनिकों के साथ भारत में उस समय कैसा बर्ताव किया था आज हमने


जरूरी है लेकिन पाकिस्तान की नजर में शिष्टाचार की कोई अहमियत नहीं है पाकिस्तान को नैतिकता का पाठ पढ़ाने के लिए आज हम भारत के फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ के बयान की मदद लेकर अभी आप 16 दिसंबर 1971 की तस्वीरें देख रहे हैं जब पाकिस्तान के 93 हजार सैनिकों ने भारतीय सेना के सामने सरेंडर किया था आप में से बहुत कम लोग ऐसे होंगे जिन्हें इस बात की जानकारी होगी कि पाकिस्तान के इन 93000 सैनिकों के साथ भारत में उस समय कैसा बर्ताव किया था आज हमने न्यूज़ के युद्ध में

No comments

मोबाइल नो. ना डाले नेट पर सभी को देखेगा सिर्फ अपने विचार दे कमेंट्स बॉक्स में ✓ Notify me क्लिक करले अगले 48 घंटे में जवाव देने का प्रयास करेगे, विज्ञापन कमैंट्स ना करे 1 घंटे के अंदर हटा दी जाएगी विज्ञापन चार्ज पे कर Ads दिखाए

Powered by Blogger.