what are the effects of not bathing regularly अक्सर अपने बढे बुजुर्गों और आस-पास लोगों को कहते हुए सुना होगा कि नहाने के हज़ार फायदे है, उनके मुंह से नहाने को लेकर तरह-तरह के मुहावरे और बातें भी सुनी होंगी जिनमे से कुछ फेमस मुहावरे थे, कि ‘अपनी शक्ल देख लो बारह बज रहे हैं’ ‘नहाओगे नहीं तो ऐसे कबाड़ी बने घूमते रहोगे’इत्यादि।

वैसे लोगोंको गर्मियों में नहाना बहुत अच्छा लगता है,लेकिन उतना ही बुरा लगता है, जब कोई दिसम्बर-जनवरी की सर्दी में नहाने को कह देता है। कुछ लोगों के लिए तो ठण्ड के समय में सुबह-सुबह नहा लेना एक जंग जीतने बराबर काम हो जाता है।

आपको बता दें के ना नहाने के नाम पर रिकॉर्ड बन चुके हैं इनमे ईरान का रहने वाला अमु हाजी एक ऐसा इंसान है जिसने पिछले 60 साल से नहीं नहाया ।

वही भारत के रहने वाले शख्स सतीश ने पिछले 66 साल से ना नहाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम किया है।

अनुपातिक तौर पर देखा जाए तो नहाने के मामले में जो सबसे पीछे रहते हैं वो है यूथ। इसलिए यंन्गिस्थान की ये पोस्ट उन यंन्गेर्स के लिए है, जो ना नहाने के हमेशा रीज़न ढूंढते रहते हैं। उनकी सर्दी में अक्सर नहाने के नाम पर आटोमेटिक तबियत खराब हो जाती है।

इसलिए अगर आप सर्दियों में नहीं रहे हो तो, ना नहाने के फायदे हो सकते हैं।

ना नहाने के फायदे –

तापमान में गिरावट- सर्दियों में अक्सर नहाने का एक घाटा जरूर होता है कि नहाने से शरीर के तापमान में गिरावट आ जाती है। जिससे आप वीमार हो सकते हो। जहाँ लोग सर्दियों में अपनीबॉडी के तापमान संतुलन को बनाये रखने के लिए कितना कुछ करते हैं- गर्म कपडे पहनते हैं, आग से हाँथ सेंकते है। वहीँ नहा कर अपने शरीर का तापमान कम कर देते हैं। इससे कई प्रकार के रोग होने की संभावनाएं बढ़ जाती है।

पानी की वचत : यह शायद आपको मजाक लगे कि एक औसत आदमी एक दिन में 85 -90 लीटर पानी यूज करता है। ये पानी वह नहाने, कपडा धोने, पीने इत्यादि कामो में खर्च करता है। ऐसे में अगर आप पानी के बचाव के लिए नहाना कम कर रहे हैं तो आगे चल कर ये परिणाम आप ही के हित में दिखाई देंगे।

तेल की वचत: सर्दियों में अक्सर तेल लगाकर मालिश करनी पड़ती है, नहीं तो शरीर की त्वचा फटने लगती है। इसका एक यह उपाय भी होता है,कि शरीर में मालिश कर के छोड़ दिया जाए। इससे कई दिन तक मालिश नहीं करनी पड़ेगी और समय की वचत भी होगी।

समय वचत : सर्दियों में जैसे कि पसीना, गर्मी का कोई रोल नहीं होता है इसलिए ठंडक पाने के लिए नहाने का भी कोई रोल नहीं होता है इसलिए सर्दियों में आप इन सब कामो से निजात पा सकते हो और टाइम की वचत भी कर सकते हैं।

ये है ना नहाने के फायदे –  इन सब बातों के अलावा एक बात ध्यान करने लायक है कि चाहे नहायें या ना नहायें लेकिन यहाँ यह बात जरूरी है कि डेली कपडे जरूर चेंज करें। इससे आपको ये फायदा होगा की वेक्टेरिया और दुसरे कीटाणु (जम्स) नहीं फैलेंगे। जिससे आप बिना नहाये भी सर्दियों में होंने वाले खतरनाक रोंगों से आसानी से बच सकते हैं।

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..