भारतीय जीवन बीमा नि‍गम से ली हुुुुई पॉलि‍सी सिर्फ भविष्‍य को सुरक्षित बनाएं रखने के लिए ही नहीं बल्कि लोन लेने के काम भी काम आती। बता दें कि‍, जिस बीमा योजना को लोग प्रोटेक्टिव कवर के तौर पर जानते थे, वह बीमा, कवरेज, निवेश, कर लाभ और लोन की सुविधा भी देता है

कई लोगों को यह मालूम नहीं होता कि भारतीय जीवन बीमा नि‍गम से ली गई पॉलि‍सी पर आप लोन भी ले सकते हैं। आमतौर पर लोगों को लगता है कि‍ लोन सि‍र्फ व्‍यक्तिगत कमाई पर ही लिया जा सकता है और इसी कारण वे इसका लाभ नहीं उठा पाते। ऐसे मेंं बता रहा है कैसे मि‍लेगा भारतीय जीवन बीमा नि‍गम की पॉलि‍सी पर लोन और कौन सी बातों का रखना होगा ध्‍यान :

  बीमा पॉलिसी पर कैसे मि‍लेगा लोन वर्तमान समय में सभी सरकारी और निजी सेक्‍टर के बैंक, बीमा पॉलि‍सी पर लोन देते हैं। हालांकि, बीमा पॉलिसी पर मिलने वाला लोन, पर्सनल लोन की तरह कम होता है लेकिन मिल जाता है। इस लोन को लेने के दौरान बीमा पॉलिसी को गांरटी के तौर पर रखना होता है।

  कि‍स पॉलि‍सी पर होंगे लोन लेने के पात्र सभी बीमा पॉलिसि‍यों पर लोन नहीं मि‍लता। भारतीय जीवन बीमा योजना के एंडोमेंट प्‍लान के तहत लोन की सुवि‍धा मि‍लती है। इन पर बैंक भी लोन देने के लि‍ए तैयार हो जाते हैं। इसके अलावा आपको ब्याज समेत लोन लौटाने के अलावा यह विकल्प भी दिया जाता है कि आप ब्याज का भुगतान करें और लोन की रकम दावा भुगतान के समय काटने को कहें।

किन-किन दस्‍तावेज़ों की आवश्‍यकता पड़ती है? बीमा पॉलिसी पर लोन लेने के लिए, सबसे पहले एक आवेदन पत्र को भरना पड़ता है। इसके बाद, पॉलिसी की मूल प्रति को जमा करवा दिया जाएगा और पॉलिसी के लाभों को लोन की अवधि के दौरान, बैंक या कम्‍पनी में जमा रखा जाएगा और इसके लिए, व्‍यक्ति को पेपर्स पर हस्‍ताक्षर करने होंगे। जब तक लोन की राशि को चुका नहीं दिया जाता तब तक पॉलिसी, एक जमानत सुरक्षा के रूप में प्रभावी रहेगी।

बैंक को पॉलिसी की भविष्‍य में जमा की जाने वाली प्रीमियमों की रसीद भी चाहिए होती है और जीवन बीमा पर लोन के दस्‍तावेज़ीकरण को पूरा करने के लिए एक कैंसल चेक भी देना पड़ता है। कि‍तनी ब्‍याज दर पर मि‍लता है लोन जीवन बीमा पॉलिसी पर दिया जाने वाला लोन की ब्‍याज दरें, भुगतान किए गए प्रीमियम और दिए जाने वाले प्रीमियम की संख्‍याओं पर निर्भर करता है। हालांकि‍ यह साधारण लोन पर लगने वाली ब्‍याज दरों से कम ही होती हैं। साधारणत: बैंकों के इसके लि‍ए अलग-अलग नियम होते हैं। बता दें कि‍, भारतीय जीवन बीमा निगम की वर्तमान ब्‍याज दरें, 9 प्रतिशत हैं। वहीं, बैंक से लोन लेने पर आपको 10 प्रतिशत से 14 प्रतिशत तक ब्‍याज देना पड़ेगा। वहीं, ब्‍याज दर आपकी पॉलि‍सी पर भी नि‍र्भर करती है।

  लोन को किस प्रकार चुकाया जाता है? जीवन बीमा पर लि‍ए जाने वाले लोन का भुगतान किस्‍तों में किया जाता है। यह कम्‍पनी या बैंक की पॉलि‍सी के अनुसार अलग-अलग होता है। इसकी न्‍यूनतम अवधि 6 महीने होती है। कई कम्‍पनियां और बैंक बचे हुए पॉलिसी टर्म के हिसाब से भी लोन ऑफर करती हैं।

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..