Hanuman chalisa bhajan audio mp3 लगभग सभी ने सूना होगा ऐसे ही जब कोई गंभीर रूप से बीमार होता है तो लोग दवा के साथ-साथ दुआ भी करते है. क्योंकि ये बात वैज्ञानिक भी मान चुके है कि प्रार्थना का सकारात्मक असर बीमारी पर पड़ता है. इन दिनों एक ऐसे ही डॉक्टर भी खबरों में है जो दवा के साथ-साथ दुआ में भी विश्वास रखते है.हरिहरन श्री हनुमान चालीसा हनुमान चालीसा ऑडियो हनुमान चालीसा डाउनलोड हनुमान चालीसा वीडियो डाउनलोड गुलशन कुमार हनुमान चालीसा ऑडियो डाउनलोड हनुमान चालीसा हिंदी में लता मंगेशकर hanuman chalisa हनुमान चालीसा song
दरअसल इंटरनेट और सोशल मीडिया पर एक डॉक्टर का पर्चा खासा वायरल हो रहा है. इस पर्चे में दवाई के साथ-साथ हनुमान चालीसा का पाठ करने की बात भी लिखी है.

  हनुमान चालीसा का पाठ दरअसल राजस्थान के भरतपुर में एक ऐसे डॉक्टर है जो पर्चे में दवाई लिखने के साथ ही हनुमान चालिसा का पाठ करने के लिए भी कहते है. 69 वर्षीय डॉक्टर दिनेश शर्मा मेडिसिन में एमडी है और हृदय रोग पर शोध भी कर चुके है. जब भी कोई मरीज़ डॉक्टर दिनेश शर्मा के पास इलाज करवाने आता है तो वे अपने मरीजों को दवाओं के अलावा हनुमान चालीसा पढने और मंदिर जाने की सलाह देते है.

इन दिनों ऐसी ही डॉक्टर शर्मा द्वारा लिखे गए पर्चे का फोटो वायरल हो रहा है. जिसमे लिखा है ‘हनुमान चालीसा का पाठ करिए, प्रतिदिन मंदिर में आरती के वक्त जाइए’. इतना ही नहीं उनके पर्चे में सबसे ऊपर लिखा होता है ‘डॉक्टर सिर्फ इलाज करता है ठीक भगवान करता है और बाएँ तरफ लिखा होता है ‘मंगलवार को पूरी तरह बंद.’ आपको बता दें कि डॉक्टर शर्मा भरतपुर के जिला अस्पताल में सीनियर फिजिशियन रह चुके है. साल 1998 में उनका रिटायर्मेंट हो चूका है, जिसके बाद से वे भरतपुर के रंजीत नगर इलाके में रेलवे स्टेशन रोड पर स्थित एक अपने ही क्लिनिक में सेवायें दे रहे है.

वे हफ्ते में केवल 2 ही दिन मरीजों को देखते है. उनके ज्यादातर मरीज़ ग्रामीण क्षेत्र के ही होते है. डॉक्टर शर्मा का मानना है कि मरीजों की दिमागी संतुष्टि के लिए वे उन्हें हनुमान चालीसा का पाठ करने की सलाह देते है. उनका कहना है कि आध्यात्मिकता से सेहत जल्दी ठीक होती है.

वे आगे कहते है कि कुछ मरीज़ तो केवल तनाव के कारण ही बीमार हो जाते है इसलिए मैं उन्हें मंदिर जाने और हनुमान चालीसा का पाठ करने की सलाह देता हूँ ताकि उनका तनाव कम हो और उनको शांति मिल सके. आपको बता दें कि आजकल की लाइफस्टाइल के चलते लोग छोटी-छोटी वजहों से ही बीमार हो जाते है.
हनुमान चालीसा का पाठ
लेकिन अगर लोग थोड़ा सा समय प्रार्थना और अध्यात्म के लिए भी निकाल ले तो उनकी कई समस्याओं का हल निकल सकता है. खैर, ये बात डॉक्टर शर्मा अच्छे से जानते है शायद इसलिए वे हर मरीज़ के पर्चे में दवा के साथ-साथ हनुमान चालीसा का पाठ करने की सलाह भी देते है.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..