Popular cars in india with price भारतीय ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री में कई ऐसी कामयाब कारें रहीं है जि‍न्‍होंने एक वक्‍त पर सड़कों पर राज कि‍या। लेकि‍न इन कारों को कंपनि‍यों की ओर से बंद कर दि‍या गया। इसमें कंपनि‍यों की स्‍ट्रैटजी, दूसरी कारों की सेल, एमि‍शन नॉर्म आदि‍ कारण शामि‍ल हैं। हालांकि‍, ये कारें आज भी कुछ लोगों के पास हैं और यह सड़कों पर भी दि‍खाई दे जाती हैं। यहां हम आपको भारतीय ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री की कुछ ऐसी ही सक्‍सेसफुल कारों के बारे में बता रहे हैं।

ह्युंडई सेंट्रो  

साउथ कोरि‍या की कार कंपनी ह्युंडई की सबसे पॉपुलर हैचबैक कार सेंट्रो रही। भारत में सेंट्रो का प्रोडक्‍शन 1998 में तमि‍लनाडु के श्रीपेरंबुदुर में शुरू कि‍या गया। एक वक्‍त पर इस कार का हैचबैक सेगमेंट पर पूरी तरह से कब्जा हो गया था। हालांकि‍, इस कार को अचानक कंपनी की ओर से 2014 में बंद कर दि‍या गया। लॉन्‍च होने से बंद होने तक कंपनी ने इसकी 13.60 लाख यूनि‍ट्स को बेचा।

बंद होने की वजह: सेट्रों को बंद करने के पीछे दूसरी कारों जैसे एलि‍ट आई20 के लि‍ए कैपेसि‍टी को बनाना था। ऐसे में सेंट्रो को प्रोडक्‍शन लाइन से हटाना जरूरी हो गया।

कब हुई लॉन्‍च: 1998
कब हुई बंद: 2014

मारुति‍ 1000 मारुति‍ 1000 को सेडान के तौर पर भारत में 1990 में लॉन्‍च कि‍या गया था। इस कार की सफलता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि‍ इसे खरीदने के लि‍ए लंबा इंतजार करना पड़ता था। लंबी लाइन की वजह से इस कार को कंप्‍यूटर लॉटरी सि‍स्‍टम के जरि‍ए बेचना शुरू कि‍या गया। बंद होने की वजह: कुछ समय बाद इस कार को एस्‍टीम नाम से पेश कि‍या गया। कुछ साल बाद इसे एसएक्‍स4 से रीप्‍लेस कि‍या गया।

कब हुई लॉन्‍च: 1990
कब हुई बंद: 2010

टोयोटा क्‍वालि‍स

टोयोटा ने भारत में क्‍वालि‍स को लॉन्‍च करने के साथ ही अपनी एंट्री की थी। मल्‍टी पर्पस व्‍हीकल (एमपीवी) सेगमेंट में इस कार का कब्‍जा था। लॉन्‍च होने के पहले साल में ही क्‍वालि‍स के 21 हजार से ज्‍यादा यूनि‍ट्स बेचे गए और इसका 35 फीसदी मार्केट पर कब्‍जा हो गया।

बंद होने की वजह: कंपनी ने इसे बंद करते हुए कहा कि‍ हम अपने कस्‍टमर्स को नए प्रोडक्‍ट्स भी देना चाहते हैं इसलि‍ए क्‍वालि‍स को बंद कि‍या जा रहा है। क्‍वालि‍स को बंद करने के बाद कंपनी ने इनोवा लॉन्‍च की थी।

कब हुई लॉन्‍च: 2000
कब हुई बंद: 2006

डेवू मटि‍ज

90 के दशक में मटि‍ज भारत की सबसे पॉपुलर हैचबैक कार में से एक थी। इस कार में रूफ रेल्‍स, ड्राइवर एयरबैग्‍स और पावर विंडों जैसे फीचर्स थे जो 2000 की शुरुआत तक बेहद कम ही देखे जाते थे।

बंद होने की वजह: डेवू की फाइनेंशि‍यल हालत खराब होने की वजह से इस कंपनी ने अपना ऑपरेशन बंद कर दि‍या और जनरल मोटर्स (जीएम) ने इसे खरीद लि‍या। जीएम ने मटि‍ज को बदल कर शेवरले स्‍पार्क को भारत में लॉन्‍च कि‍या।

कब हुई लॉन्‍च: 1999
कब हुई बंद: 2007

फोर्ड आईकन

फोर्ड की ओर से भारत में 1999 में आईकन को लॉन्‍च कि‍या। लॉन्‍च होने के बाद इस कार ने तेजी से मार्केट को पकड़ा।

बंद होने की वजह: नई कारों जैसे होंडा सि‍टी, वरना, एसेंट आने से इसकी गि‍रने लगी और कंपनी ने इसे बंद करने का फैसला लि‍या।

कब हुई लॉन्‍च: 1999
कब हुई बंद: 2011

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..