हम अपनी bike या गाड़ी के एवरेज को लेकर परेशान रहते हैं और सोचते है train speed in india new high speed ऐसा क्या किया जाए कि गाड़ी ज्यादा से ज्यादा एवरेज देने लग जाए लेकिन गाड़ी की जितनी क्षमता होती है वह उतना ही एवरेज देती है. आज हम आपको भारतीय रेल के diesel engine के एवरेज के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे शायद आप आज तक नहीं जानते होंगे. भारतीय रेलवे अब diesel इंजनो को हटाकर उनकी जगह बिजली से चलने वाले इंजन बढ़ाने की कोशिश कर रहा है जिससे diesel की ज्यादा खपत से हो रहे नुकसान से बचा जा सके.

बता दे कि भारतीय रेलवे के इंजनो में तीन तरह की डीजल टंकियां होती है जिनमें पहली 5000 लीटर, दूसरी 5500 लीटर और तीसरी 6000 लीटर की होती हैं. हम सभी को पता है की गाड़ी में जितना ज्यादा लोड होता है गाड़ी उतना ही कम average देती है ऐसा ही कुछ रेल के डीजल इंजन में भी है. डीजल इंजन में भी प्रति किलोमीटर का average गाड़ी के लोड के मुताबिक ही तय होता है.

अगर गाड़ी 24 डिब्बे की है तो लगभग 6 लीटर डीजल में 1 किलोमीटर का एवरेज आता हैं.
इसके अलावा अगर 12 डिब्बों की passenger गाड़ी है तो तो उसमें भी 1 किलोमीटर का एवरेज 6 लीटर डीजल में ही आयेगा क्योंकि पैसेंजर गाड़ी हर station पर रूकती जाती है इस बजह से इसके ब्रेक लगने और speed बढ़ाने में ज्यादा डीजल खर्च होता हैं. वहीं एक्सप्रेस रेल गाड़ियों की बात करे तो उनमें लगभग 4.50 लीटर में 1 किलोमीटर का एवरेज आयेगा क्योंकि एक्सप्रेस rail पैसेंजर की तुलना में बहुत कम जगह रूकती है.

Que.Ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..