लजीज खाने पीने का शौक किसे नहीं होता, ऐसे खाने का नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है. और ऐसे बात कर ले पकवान की चाहे वो समोसा, जलेबी, गुलाबजामुन आदि हो, आपको जानकार हैरानी होगी की ये छीजे भारत की नहीं है, और इसके नाम भी कुछ और ही है, जिनको हम हिंदी में जानते है वैसे नाम नहीं है.

आइये जानते है कुछ पकवान के वास्तविक नाम के बारे में और ये चीजे आई कहा से –

समोसा –

भारत में यह पकवान हर जगह आपको मिल जायेंगे और इसको खाने वाले भी बहुत, आपको बता दे कि समोसा भारतीय पकवान नहीं है, यह मध्य एशिया का पकवान है और इसको वह पर सोम्सा कहा जाता है, और इसका असली नाम सम्बोसा है.

गुलाब जामुन -

गरम गरम गुलाब जामुन हो और मुँह में पानी न आए ऐसा हो ही नहीं सकता, गुलाब जामुन का असली नाम luqmat al qadi है “गुलाब” शब्द नाम फारसियो द्वारा दिया गया था.

चाय –

सुबह का वक्त हो या फिर आप बहार हो या थकान को दूर भगाना हो हमेशा मन में चाय का ही ख्याल आता है, आपको जानकार हैरानी होगी की चाय पेय नहीं है, यह चीन से लायी गयी है, चीन की मैंडरीन और कैंटनीज भाषा में चाय को “चा” कहा जाता है.

दाल - भात डिश –

दाल और चावल से बनने वाली डिश को लोग भारत में चाव करके खाते है, इस व्यंजन के शौकीनों को बता दे की यह डिश भारतीय नहीं है, यह डिश नेपाल की है.

राजमा –

राजमा हमारे भारत में बड़े चाव से खाया जाता है, क्योंकि यह बड़ा स्वादिष्ट होता है, आपको बता दे कि राजमा भारत का नहीं है, राजमा को सबसे पहले मेक्सिको से भारत लाया गया था.

अनानास –

अनानास फल भी भारत का नहीं है, पाइनएप्पल को हम हिंदी में अनानास के नाम से जानते है, इस शब्द को साउथ अमरीका से लिया गया है.



जलेबी -

गरमा गरम जलेबी हो तो मुँह में पानी आ ही जाता है, आपको बता दे की यह स्वादिष्ट मिठाई bharat की नहीं है, यह मिठाई मध्य एशिया की व्यंजन है, arab देश में जलेबी को जलाबिया नाम से पुकारा जाता है.

Que.Ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..