आप शायद ही कोई मिला हो जिसके मुँह से आपने mobile की battery के बारे में अच्छी बातें सुनी हों।ज्यादातर लोग बैटरी को कोसते ही नज़र आते हैं।battry को अगर आप सही ढंग से charge करेंगे तो उसकी performance और लाइफ़ बढ़ सकती है। फ़ोन बनाने वाली कई कंपनियों का कहना है कि उनके phone की बैटरी 300-500 बार charge होने के लिए बनी हैं। उसके बाद battery की क्षमता घटने लगती है। उसके बाद बैटरियाँ चार्ज को ठीक से store नहीं कर पाती हैं।

जानकारों की सलाह है कि battry को 0 से 100% तक चार्ज नहीं करना चाहिए। लिथियम आयन बैटरी को 40 से 80 फ़ीसदी के बीच charge करके रखना चाहिए। सबसे बढ़िया होगा अगर उसके चार्ज को आप 20 फ़ीसदी से कम नहीं होने दें। पीसी advisor के मुताबिक़ बैटरी को महीने में एक बार से ज़्यादा 100 फ़ीसदी चार्ज नहीं करना चाहिए। जैसे कंप्यूटर को रिस्टार्ट किया जाता है ये ठीक वैसी ही बात है। आपके फ़ोन के साथ जो charger  आता है उसे ही इस्तेमाल करना सबसे बढ़िया होता है। बाज़ार में मिलने वाले चार्जर, ख़ास तौर पर कुछ फ़ोन के लिए बनाए जाते हैं। चार्जर अगर ठीक नहीं रहा तो फ़ोन को नुकसान भी पहुंचा सकता है।lithium ion बैटरी को काफी दिनों तक बिना charge किए नहीं रखना चाहिए। अगर आप उन्हें 40-50 फ़ीसदी के बीच charge करके रखें तो ठीक रहेगा। आमतौर पर ठीक हालत में ऐसी बैटरी महीने पांच से दस फ़ीसदी discharge होती है। हम कुछ और ऐसी बाते बताने दा रहे है जिनसे आप अपनी battry को लंबा चला सकते हैं-

1. अपने mobile को ज्यादा गर्म होने से बचाएं- स्मार्टफोन का ज्यादा गर्म होना लिथियम इयॉन बैट्रीज के लिए बेहद ही खतरनाक है।ज़ोलो की results and development टीम बताती है कि आपको अपने phone को सीधे धूप से बचाना चाहिए। दिन में drive करते वक्त car के dashboard पर mobile को छोड़ना खतरे से खाली नहीं है। high graphics वाले games खेलते वक्त फोन को चार्ज करने से भी बचना चाहिए। इन कारणों से बैटरी ज्यादा गर्म होती है जो फोन के लिए खतरनाक है। oneplus के एक product मैनेजर के मुताबिक, किसी भी मोबाइल को चार्ज करने का माकुल तापमान 20 से 30 डिग्री Celsius है।

2. चार्जिंग के वक्त phone का इस्तेमाल नहीं करें- चार्जिंग के वक्त phone के इस्तेमाल से बचना चाहिए। तकनीकी तौर पर इसे पैरासाइटिक charging कहते हैं। फोन को ऐसे इस्तेमाल करना बेहद ही घातक साबित हो सकता है। ज़ोलो का कहना है, ''इससे बैटरी पर दबाव पड़ता है जिस कारण से बैटरी फुल चार्जिंग साइकिल में नहीं पहुंच पाता है। नतीजतन battery को नुकसान होता है।''

3. नकली charger का इस्तेमाल नहीं करें- ज़ोलो की ओर से एक अहम सुझाव यह भी है कि फोन को चार्ज करने के लिए कंपनी द्वारा दिए गए चार्जर का ही इस्तेमाल करें। अगर आपके फोन में क्विक charging का फंक्शन है तो ऐसा करना बेहद ही अहम हो जाता है। इस मोबाइल कंपनी का कहना है कि हाई capacity चार्जर आपकी बैटरी को चंद मिनटों में 70 फीसदी तक चार्ज तो कर देंगे, लेकिन यह ऑप्टमाइज्ड न हो तो बैटरी को नुकसान भी हो सकता है। ज़ोलो की रिसर्च एंड डेवलपमेंट team ने हमें बताया कि कंपनी द्वारा तय ऑप्टिमम करंट से ज्यादा के इस्तेमाल से बैटरी सेल्स की चार्ज रिटेंशन कैपिसिटी धीरे-धीरे कम होती जाती है।

 इसलिए झटपट charge करने के लिए थर्ड पार्टी चार्जर्स के इस्तेमाल से बिल्कुल बचें। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि आप कौन सा फोन इस्तेमाल कर रहे हैं, लेकिन 50,000 रुपये के स्मार्टफोन के लिए सड़क किनारे से खरीदे 50 रुपये वाले charger का इस्तेमाल करने का कोई तुक नहीं बनता। इससे बैटरी को तो नुकसान पहुंचता ही है और संभव है कि यह किसी दुर्घटना का कारण भी बन जाए। apple ने तो अपने कस्टमर्स के लिए थर्ड party चार्जर ट्रेड इन प्रोग्राम चलाया था, इसके जरिए कंपनी सुनिश्चित करना चाहती थी कि उसके customers सिर्फ ऑरिजनल चार्जर्स का इस्तेमाल करें।

4.न पूरा charge करें न ही पूरी तरह खत्म होने दें- वनप्लस के प्रोडक्ट मैनेजर के मुताबिक, आपको अपने नए फोन को पूरी तरह से चार्ज करने की जरूरत नहीं है क्योंकि जब आप उसे खरीदते हैं तब उसकी battery पहले से ही चार्ज होती है। आप सीधे इसका इस्तेमाल शुरू कर सकते हैं, एक बार जब बैटरी खत्म हो जाए तो फिर उसे पूरी तरह चार्ज कर लें। वहीं, दूसरी तरफ अगर संभव हो तो आप अपने फोन की बैटरी को पूरी तरह से खत्म नहीं होने दें। oneplus के प्रतिनिधि ने बताया, ''अगर संभव है तो अपनी बैटरी को पूरी तरह से खत्म नहीं होने दें। जैसे ही आपके फोन में सिर्फ 10 फीसदी बैटरी बची हो उसे चार्ज पर लगा दें। इससे बैटरी की लाइफ बढ़ती है।''

5. फोन को पूरी रात चार्ज पर नहीं रहने दें- वैसे phone को पूरी रात चार्ज पर रखने से कोई बड़ा नुकसान तो नहीं होगा, लेकिन संभावना है कि आपकी battery की लाइफ थोड़ी कम पड़ जाए।

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..