हार्दिक पंड्या का जन्म 11 अक्टूम्बर 1993 को हुआ था. उनके पिता का नाम हिमांशु और माँ का नाम नलिनी हे. उनके भाई का नाम कुणाल हे. हाल ही में उन्होंने अपने पिता को सरप्राइज कार गिफ्ट में दी. 
हार्दिक पंड्या का संघर्ष
चार सौ रूपये के लिए मैच खेलने के दिन हार्दिक कभी नहीं भूल सकते और बैट भी किसी से मांगना पड़ता था. खाने में सिर्फ मैगी. हार्दिक खुद कहते हे की चार साल पहले तक तो में ठीक से बात भी नहीं कर पाता था. में सिर्फ अंग्रेजी बोलना चाहता था पर बोल नहीं पाता था. ऐसे में लोग मजाक भी उड़ाते. पर इससे मेरा विशवास और मजबूत हुआ. 23 साल के हार्दिक पंड्या अब भारतीय क्रिकेट टीम की जान हे. ऑलराउंडर के तौर पर उभरे हार्दिक पंड्या 2016 में ICC वर्ल्ड कप में बांग्लादेश के खिलाफ फाइनल ओवर में बेहतरीन गेंदबाजी कर चर्चा में आये.

तीन साल पहले हार्दिक गुजरात के गाँवों में किसी भी टीम में चार सौ रूपये में खेलने के लिए तैयार हो जाते थे. 2015 में मुंबई इंडियंस ने हार्दिक पंड्या को 10 लाख रूपये में खरीद लिया. एक वक्त था जब हार्दिक के घर की हालत बहुत खराब थी. इनके पिता हिमांशु का कार फाइनेंस का बिजनेस था लेकिन हार्दिक और कुणाल की क्रिकेट प्रेक्टिस के लिए वे अपना बिजनेस छोड़ सूरत से वडोदरा आ गए.

हार्दिक 9वीं फ़ैल हे. उन्होंने किरण मोर की अकेडमी से ट्रेनिंग ली हे. जब किरण को उनके घर के हालातों का पता चला तो उन्होंने कोई फीस नहीं ली. 2014 में तो हार्दिक के पास खुद का बैट तक नहीं था. हार्दिक अपनी हेयर स्टाइल के कारण हेयरी नाम से पुकारे जाते हे.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..