प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के आगे दिन घुटना बदलवाना 70 फीसदी सस्ता हो गया हे. दरअसल, सरकार ने घुटना बदलवाने के दौरान होने वाली लुट पर लगाम कसते हुए बुधवार को इसकी अधिकतम कीमतें तय कर दी थी. अब घुटने के ऑपरेशन में लगने वाले उपकरणों की अधिकतम कीमत 1.14 लाख रूपये तक होगी. पहले सबसे कम खर्च 1.50 लाख रूपये था, जो अब करीब 55 हजार रूपये होगा. हालांकि इस पर GST अलग से देना होगा. नई कीमत तुरंत प्रभाव से लागू हो गई हे.
59 से 69 फीसदी कम हुआ खर्च
देश में घुटना बदलवाने के लिए 80 फीसदी लोग कोबाल्ट क्रोमियम ऑपरेशन कराते हे. इसका खर्च 1.58 लाख से 2.50 लाख रूपये था. अब यह 54720 रूपये तय हे.

बड़ा सवाल क्या कंपनिया और अस्पताल घुटने टेकेंगे
बड़ा सवाल यह हे की सरकार ने तो कीमतें तय कर दी हे, लेकिन क्या बड़े अस्पताल मरीजों तक इसका फायदा पहुँचने देंगे. पहले भी एक स्टिंग हुआ था जिसमे खुलासा किया गया था की हार्ट स्टेंट की कीमतें तय किये जाने के बाद भी ओटी चार्ज, सर्जन फीस और अन्य सुविधाओं के नाम पर पहले जितनी ही राशि वसूली जा रही हे. ऐसे में राज्य सरकार को आगे आकर दरें कम करने की पहल करनी होगी.

449 फीसदी मुनाफा कमा रहे हे हॉस्पिटल और अन्य
सूत्रों के मुताबिक नेशनल फार्मा का कहना हे की घुटने के ट्रांसप्लांट के ऑपरेशन में जुड़े हॉस्पिटल, इम्पोर्ट और डिस्ट्रीब्यूट 449 तक मुनाफा कमा रहे हे. इससे इम्पोर्ट को करीब 76 फीसदी और डिस्ट्रीब्यूट को करीब 135 फीसदी मुनाफा हो रहा हे. इन सबका बोझ मरीजों की जेब पर पड़ता हे. ऐसे में कई मरीज घुटने का ऑपरेशन तक नहीं करा पाते हे.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..