भारत के mp के शिवपुरी को बैसे तो जाना जाता हे shivpuri madhav national park के रूप में पर यह भी चौकाने वाली खबर हे जमाना चाहें कितना भी बदल गया हो लेकिन आज भी महिलाओं पर होने वाले शोषण थमने का नाम नहीं ले रहा। गांवों में आज भी महिलाएं शोषण का शिकार हो रही हैं। आए दिन रेप के मामले सुनने को मिलते है।


आज हम आपको एक एेसे गांव के बारे में बताने जा रहे है जहां 10 रुपए के स्टाम्प पर मुहर लगाकर लड़कियों को बेच दिया जाता है। मध्यप्रेदश के शिवपुरी में धड़ीचा नाम प्रथा निभाई जाती है। यह प्रथा औरतों की खरीद फरोख्त की एेसी प्रथा है जिसकी शिकार युवतियों के पति स्टाम्प पर साइन होते ही बदल जाते हैं।

इस प्रथा में बिकने वाली औरत और खरीदने वाले पुरुष के बीच एक कॉन्ट्रैक्ट किया जाता है। ज्यादा रकम होेने पर संबंध लंबे समय तक रहता है। वहीं, अगर रकम कम हो तो जल्द ही खत्म हो जाता है। कॉन्ट्रैक्ट खत्म होने पर महिला का दूसरे पुरुष के साथ सौदा कर दिया जाता है।

 गांव में रहने वाली एक महिला का कहना है कि इस कुप्रथा को खत्म करने के लिए कई बार सरकार ने प्रयास भी किए लेकिन फिर भी यह प्रथा खत्म नहीं हुई।

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..