Maa Bap Karvate He Ganda Kam कहने को हमारा देश आज आजाद हे, लेकिन कुछ जगह ऐसी हे जहां गुलामी की बेडिया आज भी लोगो को जकड़े हुए हे. कहने को स्वतंत्रता का अधिकार हे, लेकिन कुछ लोग तो जानते भी नहीं की स्वतंत्रता होती क्या हे. हम कभी सपने में भी नहीं सोच सकते की माँ-बाप अपनी बहु-बेटियों से गंदे काम करवाते होंगे वो भी सिर्फ इसलिए ताकि उनका घर चल सके और उनका गुजारा हो सके.
दरअसल नजफ़गढ़ की प्रेमनगर बस्ती में रहने वाले लोग अपनी रोजी-रोटी के लिए अपनी बहु-बेटियों को वैश्यावृति के धंधे में धकेल देते हे. यहां के पुरुष घर बैठे आराम करते हे और महिलाएं पुरुषों को अपना ग्राहक बनाती हे. सोचकर भी अजीब लगता हे की माँ-बाप ऐसा कर सकते हे. आज के समाज में जहां पुरुष बाहर का काम करते हे और महिलाएं घर का. लेकिन प्रेमनगर की इस बस्ती में उल्टा हे, यहां महिलाएं वैश्यावृति के धंधे में धकेल दी जाती हे और पुरुष घर बैठे आराम करते हे. 


जब लड़की 12-13 साल की होती हे तो घरवाले उसे इस धंधे में धकेल देते हे. यहाँ बेटियों को शादी के लिए भी बेच दिया जाता हे, क्योंकि लड़के मुहं मांगी रकम देकर लड़कियों से शादी कर लेते हे. महिलाएं अपने घर का काम निपटाकर रात को निकलती हे और सुबह तक 5-6 ग्राहकों को संतुष्ट करके वापिस आती हे. फिर घर का काम करके सोने चली जाती हे. यह सब उनकी दिनचर्या का हिस्सा बन चूका हे.

कोई महिला सोच भी नहीं सकती की घर वाले उसके साथ ऐसा करेंगे. हमारे यहां अगर कोई बेटी पर गलत नजर डाले तो भी हमारा खून खोल जाता हे, लेकिन इस जगह तो माँ-बाप यह काम शौक से करते हे. कैसे कोई माँ-बाप अपनी ही बेटी और बहुओं को किसी गैर मर्द के साथ सोने को मजबूर कर सकते हे. कब सुधरेगे देश के ऐसे हालात.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..