अभी 23 जून को सलमान की ट्यूबलाइट रिलीज हुयी थी, जिसे लोगों ने इस बार पसंद नहीं किया हे. हर बार ईद पर छाने वाले सलमान इस बार ईद पर कुछ खास रंग नहीं जमा पाए.
 इस बार उनकी फिल्म ट्यूबलाइट बॉक्स ऑफिस पर नहीं चल सकी. सब लोग इससे तगड़ी कमाई की उम्मीद लगा के बैठे थे लेकिन फिल्म पिट गई. फिल्म में ऐसा कुछ था ही नहीं जो लोगों को पसंद आता. आईये जानते हे इसके असफल होने के कारण.

Salman Khan Movie Tubelight Fail News

1. बोरिंग कहानी
सलमान की यह फिल्म हॉलीवुड की “लिटिल बॉय” पर आधारित थी. फिल्म को देखकर ऐसा लग रहा था की बजरंगी भाईजान को ही तोड़-मरोड़कर पेश किया हे. उसे बच्ची को छोड़ने जाता था और इसमें भाई को लाता हे. लगता हे जनता को पागल समझ रखा हे.

2. घटिया स्क्रिप्ट
इसकी कहानी बहुत ही कमजोर हे. देखते-देखते कब नींद आ जाये पता ही नहीं चलता हे. पक्का हे स्क्रिप्ट लिखने वाला नोसिखिया ही होगा. इतनी बार फिल्म में यकीन वर्ड का प्रयो किया हे अब तो साला यकीन शब्द से ही नफरत हो गई हे. सलमान खान को तो एक ही डायलॉग दिया हे यकीन रखो और गांधीजी के रस्ते पर चलो. इसमें सब कुछ बनावटी सा लगता हे. कभी लक्ष्मण ट्यूबलाइट बन जाता हे तो कभी बहुत समझदार. चट्टान और भूकम्प बाले सीन में तो पूछो ही मत क्या मजाक बनाया हे. 

यह भी पढ़े चलता रहा एक्टर-एक्ट्रेस का अतरंग दृश्य

3. रोने वाला सलमान
दबंग खान को रोते कौन देखना पसंद करेगा. छोटे से पागल बच्चे का रोल किया हे इसमें सलमान ने. हर बार गुंडों को धुल चटाने वाला सलमान इस मूवी में खुद मार खा रहा हे. पूरी फिल में रोनी सूरत लिए घूमता हे सलमान. यह सीन सलमान को बिलकुल सूट नहीं करते हे. ऐसा लगता हे जैसे फिल्म में कोई हीरो हे ही नहीं.

4. ना हीरोइन हे और ना ही रोमांस

फिल्म में रोमांस और हीरोइन का तो अत-पता ही नहीं हे. सच तो यह हे की ट्यूबलाइट के रिलीज होने के दौरान लोगों को पता ही नहीं था की सलमान और सोहेल के अलावा फिल्म में कौन-कौन हे.

5. कबीर ने ट्यूबलाइट को कर दिया फ्यूज
सलमान खान जैसा हीरो, बड़ा बजट होते हुए भी कबीर खान के पास इतनी घटिया कहानी थी. कबीर ने ही ट्यूबलाइट के फ्यूज उडाये हे. इस बार उन्होंने बहुत ही गलत कहानी चुनी हे. पूरी फिल्म में नकलीपन हे. असलियत का तो कहीं अहसास ही नहीं होता हे.

इस फिल्म को जितने लोगों ने भी देखा हे सलमान की फैन फोलोइंग की वजह से. अगर सलमान की जगह कोई दूसरा इस फिल को करता तो यह बहुत बुरी तरह से पिटती. हद हे यार मतलब की कुछ भी दिखाओगे और हम देख लेने. अगर कहानी अच्छी होती, हीरोइन होती और रोमांस होता तो फिल्मो बहुत ज्यादा कमाती. कबीर तुमने भाईजान के साथ अच्छा नहीं किया.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..