जाने इन्टरनेट पर प्राइवेसी से जुड़े मिथक..Reality Of Internet Privacy - Top.HowFN.com

जाने इन्टरनेट पर प्राइवेसी से जुड़े मिथक..Reality Of Internet Privacy

हम इन्टरनेट पर आये दिन कुछ ना कुछ सर्च करते रहते हे. कई बार तो हम ऐसी जानकारी भी सर्च करते हे जो हम चाहते हे की कोई ना देखें. लेकिन क्या आप जानते हे इन्टरनेट पर आप जो कुछ भी सर्च कर रहे हे वो ट्रैक होता हे. आज में आपको इन्टरनेट पर आपकी प्राइवेसी से जुड़े कुछ मिथक और उनके सच बता रहा हु. 
Reality Of Internet Privacy

1. browser history डिलीट करने पर यह local hard disk से तो डिलीट हो जाती हे लेकिन कुछ website, app, विज्ञापन प्रदाता इसे ट्रैक कर सकते हे.

2. अगर आप इन्टरनेट पर ट्रैक हुए बिना कुछ सर्च करना चाहते हे तो “डकडक गो” नाम के सर्च इंजन पर अपना काम करें. 

यह भी पढ़े whatsapp पर अश्लील मेसेज भेजा तो इन धाराओं के तहत होगी जेल

3. अगर आप प्राइवेट विंडो पर डाटा सर्च करते हे तो आपका डाटा ट्रैक नहीं होता हे. जैसे google chrome में Shift + N दबाने से प्राइवेट विंडो ओपन हो जाता हे. लेकिन इसे फिर भी ट्रैक किया जाता हे.

4. प्राइवेसी के लिए कुछ browser पर कुछ एक्सटेंशन जैसे Do Not Track Me जोड़े.

5. इन्टरनेट पर पूरी तरह से प्राइवेसी रखने के लिए आप TOR ब्राउज़र का इस्तेमाल कर सकते हे. यह हैकर लोगों का सबसे पसंदीदा ब्राउज़र हे.

0 Response to "जाने इन्टरनेट पर प्राइवेसी से जुड़े मिथक..Reality Of Internet Privacy "

Post a comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel