मोटरसाइकिल कैसे चलाये की विधि bike chalane ke rule how to learn motorcycle driving tips - Top.HowFN.com

मोटरसाइकिल कैसे चलाये की विधि bike chalane ke rule how to learn motorcycle driving tips

How to drive a bike with gear in hindi -  शुरुआत में एक हल्की या कम cc वाली बाइक का इस्तेमाल करें बाइक सीखने के लिए एक सिंपल बाइक का प्रयोग करें तो बेहतर रहेगा क्योंकि भारी भरकम आपको एक बुरा सबक सिखा सकती हैं यानि की आपको चोट भी पहुँच सकती है.
जब भी आप बाइक चलायें या चलाना सीख रहें हो तब ट्रैफिक नियमों का पालन करे
  • > बाइक चलते समय अपनी आँखें और कानों को खुला रखें .
  • > बाइक की सवारी करते हुए अपना हेलमेट और जरूरी दस्तावेज़ अपने साथ ही रखें .
  • > हमेशा ही लेन में बाईं ओर रहने की कोशिश करें और गति सीमा के अनुसार ही अपनी बोके चलाएँ.
  • > लेन बदलते समय या मुड़ते समय सही इंडिकेटर को प्रयोग में लें.
  • > शराब या किसी भी प्रकार के नशे की हालात में बाइक न चलाएँ
अपनी BIKE और इसके CONTROLS के बारे में अच्छी तरह जान ले 
आप किसी भी बाइक को यूं ही नहीं चला सकते जब तक आको उसके बारे में सही जानकारी न हो. आपका अपनी मोटरसाइकिल के बारे में जानना बहुत आवश्यक है. इसके लिए आपकी बाइक के साथ दिए गए ओनर्स मैनुअल को प्रयोग में लें. इस से आपको मोटरसाइकिल से संबंधित सभी जानकारियाँ जैसे कि आपकी बाइक का गियर सिस्टम, हॉर्न, लाइट्स आदि. अलग -अलग बाइक में ये सब अलग तरीके से काम करते है. आप इसके लिए किसी बाइक एक्सपर्ट से भी जानकारी प्राप्त कर सकते है.

सड़क के हिसाब से ही BIKE को चलाएँ

भारत की सड़के अपने बुरे हालात और ज़बरदस्त ट्रैफिक जाम की वजहों से मशहूर है. एक नये बाइक सवार को इस बात को ध्यान में रखना चाइये कि…

> बाइक चलाना सीखना शहर के ट्रैफिक की तुलना में हाइवे पर अधिक आसान होता है क्योंकि शहरों की तुलना में हाइवे की सड़कें चौड़ी एवं बेहतर होती हैं और हाईवे पर ट्रैफिक उतना नहीं होता जितना की शहरों की मेन सड़कों पर देखा जा सकता है. लेकिन हाईवे पर बाइक चलाना अधिक खतरनाक भी हो सकता है क्योंकि ट्रैफिक की गति हाईवे पर बहुत अधिक होती सकती है.

> घड्डों या कंकड़ से भरी सड़क : आप का ऐसी सड़कों से सामना होना कोई नई बात नहीं होगी. ऐसी सडको पर मोटरसाइकिल की रफ़्तार को धीमा करें, गाड़ी को लोअर गियर पर डालें, तथा इसे धीमें से संभाल कर चलाएँ . ऐसा करते हुए गति को ध्यान में रखे तथा शार्प टर्न न लें, ऐसा करने से आप गिर भी सकते हैं. धैर्य को बनाए रखें, सावधान रहें और किसी भी चीज़ के कारण अपना ध्यान न भटकने दें.

> गीली सड़कें: मानसून सीजन में आपका सामना गीली सडको से हो सकता है. इसके लिए भी अपने आप को तैयार रखें. भारत में सड़कों पर ऐसी समस्या आम बात है. बारिश में गाड़ी न ही चलायें तो ही बेहतर रहेगा लेकिन यदि ऐसी परिस्थिति आ भी जाती है कि बारिश में गाड़ी चलानी पड़े तो गाड़ी धीरे चलायें. गीली सड़कें बहुत खतरनाक होती हैं क्योंकि इन पर नियंन्त्रण खो बैठने का डर बना ही रहता है. अपनी गति को धीमा ही रखें, मुड़ते समय अधिक झुकें नहीं और ब्रेक का उपयोग धीरे से करें – ये तीनों बातें आपकी ऐसी सड़कों पर बहुत मदद करेंगी.

जितना संभव हो सके सावधान रहें !

जल्दबाजी करना सबसे बड़ी मूर्खता कह लाएगी इसलिए बाइक चलाते समय सावधानी बरते तथा पीछे से आने वाले वाहनों को देखने के लिए आप Mirrors को अच्छी तराह से Focus करें. बड़े वाहनों से रेस लगाने की कोशिश ना करें तथा उन्हें जाने के लिए रास्ता दें. अपनी गति नियंत्रण मे पर नियंत्रण बनाए रखें तथा बहुत सावधान रहें.

मोड़ पर ध्यान से चलाएं !

नए व्यक्ति के लिए बाइक को मोड़ पर चलाना थोडा कठिन होता है . किसी नौसिखिये के लिए यह सबसे बुरा स्थान हो सकता है आप मोड़ पर डरे नहीं. अच्छे और लगातार प्रयास से आप इसमें सुधार ला सकते है. मोड़ पर मोटरसाइकिल चलाना कोई बहुत बड़ी बात नहीं है, मोड़ आने पर आप अपनी बाइक की गति को धीमी करें, ऐसा करने के लिए गाड़ी को लोअर गियर पर डालें, तथा हलके ब्रेक का इस्तेमाल करते हुए ऐसा करे. जितना संभव हो सके मोड़ पर सावधान रहें.

अगर आप मोड़ के दुसरे पार नहीं देख पा रहें है तो हॉर्न अवश्य दे वर्ना एक्सीडेंट हो सकता है. हॉर्न देने से और लोगों को भी आपकी मौजूदगी का एहसास हो जाता है और वे सतर्क हो सकते है. अब ब्रेक छोड़ें तथा धीरे धीरे एक्सिलरेटर बढ़ाएं और मोड़ को आराम से पार कर ले. इसके लिए बहुत अभ्यास की आवश्यकता होती है परन्तु यह बहुत अच्छा अनुभव भी होता है. अभ्यास करने से आप को कुशलता भी मिलती है.

रास्ते में आने वाली सभी संभव चीज़ों पर नज़र रखें !

जब आप बाइक चलाना सीख रहें होते है तो एक साथ इतनी सारी चीजों पर ध्यान रखना मुश्किल होता है पर ये आपके और लोगों के भले के लिए अत्यंत आवश्यक है. जब भी आप बाइक चलाएँ तो अपने आसपास के वातावरण की अच्छे से जानकारी रखें.

आप लगातार ट्रैफिक लाइट, रोड़ ब्लॉक, सड़क की चेतावनी, पैदल चलने वालों, गाय, रोड पर मौजूद आवारा पशु आदि, चौराहों, बच्चों, वृद्ध व्यक्तियों, पुलिसवालों तथा आसपास के वातावरण के प्रति सजग रहें. समय के साथ साथ यह एक आदत बन जायेगी और इससे आपके बाइक चलाने के अनुभव में भी सुधार आएगा.

अपनी सुरक्षा का ध्यान रखें !

आप अगर अपनी बाइक को और अपने हेलमेट को सही स्थिति में रखते है तो इस से बहुत मदद मिलती है. मोटरसाइकिल के बारे में कुछ ऐसी बातें होती हैं जिनके बारे में हमको जानना आवश्यक है जैसे कि – हवा का दबाव जांच ले, तेल के स्तर की जांच करे, टायर आदि की स्थिति के बारे में आपको अवश्य पता होना चाहिए. ये जानकारी आपकी सुगम यात्रा के लिए आवश्यक होती है. इसके लिए सबसे अच्छा तरीका है कि अपने बाइक चलाने वाले मित्रों, रिश्तेदारों, किसी एक्सपर्ट से सलाह मशवरा करें.

हेलमेट के बिना कभी भी सवारी न करे और न ही करने दे . आप की जान से बढ़ कर कुछ भी नहीं है, इसलिए सुरक्षित रहें.

मोबाइल के प्रयोग से बचें Do Not Use Mobile बाइक चलाते हुए मोबाइल का प्रयोग करना सख्त मना है. ऐसा करने से आपका ध्यान भटक सकता है. मोबाइल को न ही कॉल, गाने या किसी भी तरह के प्रयोग में न लें. अगर आपको ऐसा करना भी हो तो बाइक को रोकें और एक साइड में लगा कर ही फ़ोन सुने. कोई भी कॉल आपकी ज़िन्दगी से ज्यादा जरूरी नहीं है

1 Response to

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel