पेट्रोलियम का इतिहास पेट्रोलियम पदार्थ पेट्रोलियम की उत्पत्ति पेट्रोलियम का शोधन पेट्रोलियम उत्पाद पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय खनिज तेल क्या है पेट्रोलियम संरक्षण पर निबंध
Petrol kaise banta hai - पेट्रोल एक मात्र ऐसा खनिज पदार्थ है जिसके सामने विकास के सारे साधन कमजोर साबित होते हैं.कुछ दिनों से हमारी साइट पे कमैंट्स में पूछा जा रहा था petrol kaha se nikalta hai petrol kaise bana petrol kaha paya jata hai diesel kaise banta hai petrol kaise banta hai hindi essay on petroleum conservation in hindi petroleum in hindi देश चाहे अमरीका, चाइना या फिर भारत हो, बिना खनिज पदार्थ (पेट्रोल, डीजल) के यह अपनी जीडीपी ग्रोथ के ग्राफ को नहीं बढ़ा सकते.
How to make petrol from water

चलिए हम आपको कुछ ऐसे तथ्य बताते हैं जिससे आपको पता चलेगा खनिज पदार्थ की फुल जानकारी के बारे में कच्चा तेल और डार्क हाइड्रोकार्बन पदार्थ है जो विश्व में समुद्र और जमीन के अंदर पाया जाता है. इसका इतिहास 300 मिलियन सालों का है.

Origin of petroleum how to make petrol at home
1 बैरेल ऑइल को बनाने के लिए कम से कम लगभग 20 गैलेन गैसोलीन का इस्तेमाल किया जाता है.

मोटर गाड़ियों और विमानों के लिए यह ईंधन एक महत्वपूर्ण खनिज पदार्थ है. इसके अलावा इसका उपयोग प्लास्टिक, पेंट्स, डिटर्जेंट, फर्टीलाइजर और लुब्रिकेंट में किया जाता है.

खनिज पदार्थों का हम पिछले 5000 सालों से उपयोग कर रहे हैं.

इस तरह के ईंधन से आप कपड़े, प्लास्टिक बोतल, पेन और कई अन्य सारी चीजें बना सकते हैं.

विश्व में अमेरिका ऐसा देश है जहां सबसे ज्यादा ईंधन (लगभग 20 मिलियन) की खपत होता है.

लाइट क्रूड ऑइल पानी की तरह होता है जबकि हैवी क्रूड ऑइल टार की तरह है.

सऊदी अरब तेल का सबसे बड़ा उत्पादक है. इसके बाद रूस में सबसे ज्यादा तेल पाया जाता है.

तेल को बैरेल में मापा जाता है. एक स्टैंडर्स बैरेल 159 लीटर का है.

विश्व में ईंधन और कोयला 88% उर्जा की मांग को पूरा करते हैं
Petrol kaha se aata hai -अब आप समझ गए होंगे पेट्रोल पृथ्वी की बहुत गहराई में होता है जो मुख्यतः समुद्र की गहराई से प्राप्त होता है, जिसे तेल का कुआँ कहते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मिट्टी से भी तेल निकाला जा सकता है। जी हाँ, शैल मिट्टी से भी निकलता है पेट्रोल। शैल एक प्रकार की मिट्टी है। इसकी महीन तहें होती हैं
 स्कॉटलैंड में इस प्रकार की मिट्टी काफी पाई जाती है। शैल मिट्टी को खदानों (खानों) से कोयले के समान ही निकाला जाता है। इसे खदान से निकालकर पीसने या टुकड़े करने वाली मशीनों से बारीक किया जाता है। इसके बाद एक विशेष विधि से इससे तेल निकाला जाता है। इस विधि में शैल मिट्टी को लगभग 1600° फैरनहाईट तक गर्म किया जाता है।

गर्म करते समय इसे आगे की ओर खिसकाया जाता है। इसमें गर्मी बहुत धीमी गति से पहुँचाई जाती है। इससे यह मिट्टी अच्छी तरह पक जाती जाती और इससे काफी मात्रा में तेल निकल आता है। कोयले से व्यापारिक स्तर पर पेट्रोल तथा अन्य कीमती तेल बनाने के लिए ‘हाइड्रोजनेशन’ विधि का उपयोग किया जाता है।

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..