Chikungunya Hindi meaning- चिकनगुनिया, बुखार एक वायरस बुखार है जो एडीज मच्छर एइजिप्टी के काटने के कारण होता है। चिकनगुनिया और डेंगू के लक्षण लगभग एक समान होते हैं।​ इस बुखार का नाम चिकनगुनिया स्वाहिली भाषा से लिया गया है, जिसका अर्थ है ''ऐसा जो मुड़ जाता है'' और यह रोग से होने वाले जोड़ों के दर्द के लक्षणों के परिणामस्वरूप रोगी के झुके हुए शरीर को देखते हुए प्रचलित हुआ है।

चिकनगुनिया के लक्षण (Symptoms of Chikungunya)-
  1. चिकनगुनिया बुखार में इंसान के जोड़ों में काफी दर्द होता है।
  2. कभी-कभी तो ये दर्द ठीक होने में 6 महीने से ज्यादा का समय लग जाता है।
  3. मरीज को हमेशा बुखार रहता है (100 डिग्री के आस-पास)।
  4. एक निर्धारित समय आने पर बुखार एकदम से तेज भी हो जाता है।
  5. शरीर पर लाल रंग के रैशेज बन जाते हैं।
  6. मरीज को भूख नहीं लगती और हमेशा थकान महसूस होती है।
  7. सिर में दर्द और खांसी-जुकाम रहता है।
chikungunya treatment - इस रोग से बचने के लिए कोई टीका नहीं है इसलिए एडिस मच्छर से बचने के लिए इंसान को अपने आस-पास  साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए ताकि मच्छर पनपे ही ना। इस रोग से बचने के लिए हम आपको निम्नलिखित टिप्स बता रहें हैं जिन पर अमल करके आप इस वायरस की चपेट में आने से बच सकते हैं।

चिकनगुनिया मच्छर दिन में काटता है - आमतौर पर चिकनगुनिया का मच्छर दिन में काटता है इसलिए दिन में भी मच्छर कॉयल जलाकर रखें।

सफाई रखें- अपने घर के अंदर और आस-पास हमेशा सफाई रखें।

पानी स्टोर ना होने दें- घर में पानी एकत्रित होने ही ना दें।

कूलर का पानी चेंज करें- कूलर के पानी को रोज बदलिये।

मच्छरदानी का प्रयोग - सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग कीजिये।

अपने आप को कवर रखें -फूल बांह वाले कपड़े पहनिये और हमेशा अपने आप को ढ़ककर घर से निकलें।

अपने डॉक्टर खुद ना बनें- लक्षणों के आधार पर डॉक्टर से सलाह लेकर ही दवा लें, अपने डॉक्टर खुद ना बनें।

बाहर खाना ना खायें- बाहर का खुला खाना या पानी पीने से बचें, कोशिश करें कि घर पर ही खायें।

खूब पानी पीजिये - खूब पानी पीजिये, जिससे आपका इम्यून पॉवर मजबूत रहे।

खिड़की-दरवाजों को बंद रखें- शाम होते ही खिड़की-दरवाजों को बंद रखें, ताकि मच्छर घर में प्रवेश ना कर पायें।

Que.Ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..