नई दिल्ली. इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट नए इनकम टैक्‍स रिटर्न (आईटीआर) के तहत नोटबंदी के दौरान बैंक में जमा किए गए कैश के बारे में डाटा मांगेगा। असेसमेंट ईयर 2017-18 के लिए नया इनकम टैक्‍स रिटर्न फॉर्म जल्‍द ही जारी होगा। फाॅर्म में होगा अलग कॉलम... 
Income Tax Department will seek detail deposit during noteban- आई-टी अफसरों के मुताबिक- पिछले साल 8 नवंबर से 30 दिसंबर के दौरान किसी शख्स या कंपनी द्वारा 2 लाख या उससे ज्यादा के अमाउंट की डिपॉजिट डिटेल्स को नए फॉर्म में देना होगा। सैलरी इनकम वाले इंडीविजुअल्‍स के लिए आईटीआई- 1 या सहज नाम के फॉर्म में भी नया कॉलम जोड़ा गया है।

डिपॉजिट जानना है मकसद

- अफसरों ने कहा- टैक्सपेयर्स को ऑपरेशन क्‍लीन मनी और प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण योजना के तहत नोटबंदी के दौरान डिपॉडिट की गई अनअकाउंटेड रकम का ब्‍यौरा देने का मौका दिया गया है।

- इनकम टैक्‍स फॉर्म में नया कॉलम शुरू करने का मकसद यह जानना है कि किसी व्‍यक्ति या कंपनी ने कितनी रकम जमा की।

रिटर्न में देना होगा आधार

- अफसर के मुताबिक, आईटीआर फॉर्म में आधार नंबर मांगने वाला कॉलम रहेगा, और इस बार आधार नंबर देना मेंडेटरी किया गया है। आधार के इस्तेमाल से आईटीआर का ई-वेरिफिकेशन जारी रहेगा।

आईटीआर-1को बनाया सरल
- आई-टी अफसरों के मुताबिक- सभी डिडक्शंस और एसेट्स व लायबिलिटी की डिटेल्स को एक साथ लाकर नए आईटीआर-1 या सहज को सरल बना दिया गया है।

- आईटी डिपार्टमेंट और उसकी पॉलिसी मेकिंग बॉडी सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (सीबीडीटी) के डायरेक्शंस को ध्यान में रखते हुए सभी आईटीआर फॉर्म 1 अप्रैल से लॉन्च होने की संभावना है।

इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट नए इनकम टैक्‍स रिटर्न (आईटीआर) के तहत नोटबंदी के दौरान बैंक में जमा किए गए कैश के बारे में डाटा मांगेगा।

सैलरी इनकम वाले इंडीविजुअल्‍स के लिए आईटीआई- 1 या सहज नाम के फॉर्म में भी नया कॉलम जोड़ा गया है।

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..