हस्तमैथुन एक स्वभाविक क्रिया हे जिसे हम अपने लिंग को हाथ से सहलाते हे और आगे-पीछे करते हे. हस्तमैथुन लड़के और लड़कियां दोनों करते हे. भले ही लोग इसके बारे में खुलकर बात ना करें लेकिन यह सच हे की बहुत से लोग हस्तमैथुन करते हे. लोगों की इसके बारे में बहुत सी गलत धारणाएं हे. आज हम बताएँगे की लोग इसके बारे में क्या सोचते हे और आखिर सच क्या हे.
लोगों की धारणाएं
1. हस्तमैथुन करने से अंधे हो जाते हे.

2. हस्तमैथुन करने से लोग पतले और कमजोर हो जाते हे.

3. हस्तमैथुन करने से शुक्राणु में कमी आते हे और सन्तान पैदा करने में तकलीफ होती हे.

4. हस्तमैथुन करने से खून में कमी आती हे, क्योंकि लोग सोचते हे की वीर्य खून की बूंद से बनता हे.

loading...
5. हस्तमैथुन से हड्डियां कमजोर होती हे. 

यह भी पढ़े  मर्दों की 'चड्डी' के बारे में सोचती हैं लड़कियां

हस्तमैथुन की सच्चाईउपर बताई गई सारी धारणाएं गलत हे. हस्तमैथुन करने से ऐसा कुछ नहीं होता हे. बल्कि इससे हमें अच्छी नींद आती हे और टेंशन से छुटकारा मिलता हे. ये एक स्वस्थ क्रिया हे. आपको यह बता दे की हस्तमैथुन एक स्वस्थ क्रिया हे इससे किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होता हे. इसलिए किसी भी तरह के मिथक में ना आये. यह एक प्राकृतिक क्रिया हे.

Que.Ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..