एक बढ़ा देश भारत लेकिन इस देश में अबैध एबॉर्शन होना भी एक सच्चाई हे सरकार भले कितने भी प्रयास करे जब तक लोग जाकरूक नहीं होगे तब तक यह रोकना कैसे संभव हो ऐसा ही केस आज न्यूज़ पेपर में देखने को मिला आप भी देखे -
एक और घटना जो गर्भपात के बाद युवती की मौत का कारण बनी 
Dangers of having an abortion -प्रेमजाल में फंसी एक युवती गर्भवती हो गई। जब पता लगा तो बदनामी से बचाने को गर्भपात कराया गया। अधिक दिनों का शिशु पेट में होने के कारण गर्भपात पूरी तरह नहीं हो पाया और उसकी मौत हो गई। भमोरा की युवती का पड़ोसी युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

तबीयत बिगड़ी तो जांच की पता लगा कि वह गर्भवती है। घर वालों ने दबाव बनाकर पूरी जानकारी दी। उसके बाद परिवार बदनामी के दाग से बचने के लिए उसे चार दिन तक गर्भपात की दवा खिलाई, दवा से कोई असर नहीं हुआ तो गुरुवार को वह युवती को देवचरा में एक झोलाछाप डॉक्टर के पास ले गए। झोलाछाप ने युवती को गर्भपात कराया। उसके बाद परिवार वाले उसे घर ले आए। वहां आते ही तबीयत बिगड़ गई ओर कुछ देर बाद शाम को उसने दम तोड़ दिया। उसके बाद परिजनों ने दफना दिया। लोगों का कहना है कि गर्भ तीन माह से अधिक का था। इसके कारण न दवा काम की और न ही सही से गर्भपात हुआ। संक्रमण अधिक होने के कारण उसने दम तोड़ दिया। यदि किसी प्रशिक्षित चिकित्सक के पास ले जाया जाता तो शायद युवती की जान बच जाती। अब सवाल यह उठता है कि स्वास्थ्य विभाग झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई अमल में क्यों नहीं ला रहा। बताया जाता है कि विभाग की शह पर ही जिंदगियों से खिलवाड़ हो रहा है

आप से अनुरोध हे यह खबर अधिक से अधिक शेयर करे और लड़कियो/महिलाओ को जागरूक करे... 

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..