News क्राइम ब्रांच ने गुरुवार को रिलायंस जियो कंपनी के छह सेल्समैन को गिरफ्तार किया है। ये लोग टारगेट पूरा करने के लिए सिम खरीदने आने वाले ग्राहकों के फिंगर प्रिंट्स और आधार कार्ड से सिम एक्टिवेट कर दूसरों को 300 से एक हजार रुपए में बेच देते थे। क्राइम ब्रांच इनके द्वारा बेची गई सिम की भी जानकारी जुटा रही है।

किसी के फिंगर प्रिंट्स और उनकी आईडी mobile numbers users

बिना जानकारी के इस्तेमाल करना एक तरह से धोखाधड़ी है। इसी आधार पर यह कार्रवाई की गई है। आशंका है कि इन एक्टिवेट सिम का फायदा आतंकी और बदमाश उठा सकते हैं। डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने बताया कि आरोपी तेजाजी नगर का सुनील चौहान (28), प्रजापति नगर का राम हेमनानी (27), गौतमपुरा का नीरज नंदवाल (23), एलआईजी काॅलोनी का दीप वाधवानी (26), नगीन नगर का रंजीत सिंह भाटी (24) और राजनगर का रहने वला प्रवीण राठौर (22) आरोपी हैं। कुछ लोगों से सूचना मिली थी कि उनके फिंगर प्रिंट्स और आधार पर सिम एक्टिवेट कर दूसरों को बेची गई है इस पर एसपी हेड क्वार्टर मोहम्मद यूसुफ और एएसपी क्राइम ब्रांच अमरेंद्र सिंह चौहान को जांच के लिए कहा गया था। इनकी टीम ने सभी आरोपियों को जेलरोड स्थित डाॅलर मार्केट के बाहर से गिरफ्तार किया। इनके पास से 14 एक्टिवेट और 332 ब्लैंक सिम और फिंगर प्रिंट्स लेने वाली बायोमैट्रिक मशीन जब्त की गई।

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..