हम जोश में हेल्दी खानपान तो शुरू कर देते हे, पर जल्द ही उसे बीच में छोड़ देते हे. ऐसा क्यों होता हे और इसके लिए सही रणनीति क्या हे आज की इस पोस्ट में जानेंगे.


क्या होती हे गलती
सेहत में सुधार के हिसाब से डाईट प्लान अपनाना तो आसान हे लेकिन उसे बनाये रखना बहुत कठीन हे. अधिकांश लोग इसमें विफल हो जाते हे. हालाँकि एक साधारण सी रणनीति के जरिये कोई भी हेल्दी खानपान पर टिका रह सकता हे. एक रिसर्च के अनुसार हमारा ध्यान अपनी पसंदीदा चीज को छोड़ने के बजाय हेल्दी चीजे अपनाने पर होना चाहिए. ज्यादातर लोग यही गलती कर जाते हे. मिसाल के लिए एकदम से मीठा, तेल-घी आदि छोड़कर रूखे-सूखे भोजन पर आ जाते हे और जल्द ही उससे उब जाते हे. यानी यह मीठी छोड़कर सीधा करेले के जूस पीने जैसा होता हे. 

यह भी पढ़े यह करने से महिलाएं होती हे जल्दी उत्तेजित

क्या हे सही रणनीति
सही रणनीति यह होगी की आप मिठाईयां खाने से बचें, लेकिन नियमित तोर पर फल खाएं. फल हेल्दी भी हे और मीठे भी हे. इससे आपको मीठा खाने की इच्छा को मारना भी नहीं पड़ेगा. यंहा तक की शुगर जैसे रोगो में भी सिमित मात्रा में फल खाएं जा सकते हे. सबसे इम्पोर्टेंट हे सेल्फ कण्ट्रोल जो चीजे नहीं खानी हे, मतलब नहीं खानी हे किसी भी हालत में. थोडा कण्ट्रोल तो खुद पर होना ही चाहिए.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..