penalties under income tax act 1961 income tax penalty rules NIYAM undisclosed income income tax penalty for late payment non filing of it returns income tax penalty 271 1 c paise kaise jama kare bank me calculator section 271(1)(c) of income tax act 1961 
आय से अधिक नकद जमा के मामलों में यदि आय घोषणा में विसंगति पाई गई तो उस रकम पर टैक्स के साथ 200% जुर्माना लगेगा फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली और रेवेन्यू सेक्रेटरी हसमुख अधिया ने बुधवार को कई मुद्दों पर जानकारी दी अधिया ने कहा कि कोई अपने खाते में 2.5 लाख रु. से ज्यादा जमा करता है तो BANK इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को बताया जाएगा टैक्स अफसर यह भी देखेंगे कि 2 लाख रु. से ज्यादा की ज्वैलरी खरीदने वाले पैन नंबर दे रहे हैं या नहीं

मौजूदा नियमों के तहत

जिन लोगों का बैंक या डाकघर में खाता है वह इसमें अपने पुराने नोट जमा करा सकते हैं. इसके लिए कोई अधिकतम सीमा तय नहीं है. हालांकि मोटी रकम जमा कराने के लिए अपना आईडी प्रूफ और पैन का ब्योरा देना होगा. पुराने नोट जमा कराने में सहयोग के लिए बैंकों ने अपने ग्राहकों को एसएमएस भेजने शुरू कर दिए हैं. बैंकों के उत्साह को देखते हुए पुराने नोटों को जमा करने की प्रक्रिया दो-तीन सप्ताह में पूरी की जा सकती है. फिर भी सरकार ने इसके लिए 31 मार्च तक का लंबा समय दिया है. इसी को देखते हुए बड़ी मात्रा में कालाधन रखने वाले लोगों में उम्मीद जगी है कि 30 दिसम्बर के बाद सरकार शायद उन्हें अपने धन का खुलासा करने के लिए कोई अवसर दे.
यह भी पढे - जुर्माना रूल्स कितनी अधिक आय होने पर आप पर लग सकता हे 
Rupiess Deposits Above Rs. 2.5 Lakh To Face Tax Penalty

Q. बचत के पैसे जमा करने वाली घरेलू महिलाओं के पैसे का क्या होगा?
जेटली. महिलाएं और किसान अपने बचत के पैसे को लेकर चिंता न करें। ये हम भी जानते हैं कि घरेलू महिलाएं और किसान 25, 30 या 50 हजार रुपए घर खर्च के लिए रखते हैं। वे बिना टेंशन, इन पैसों को बैंक में जमा करा दें। उनसे पूछताछ नहीं होगी। जो इनकम टैक्स छूट के दायरे में आते हैं, वे 2.5 लाख सीमा तक पैसे बेफिक्र होकर जमा कर सकते हैं।

Q. लोगों में डर है कि उनके नोट वापस होंगे? बैंकों में प्रॉब्लम होगी?
जेटली. जिनके पास भी वैध राशि है, उन्हें कोई नुकसान नहीं होगा। बैंकों में कैश भिजवाया जा रहा है। नए 500 और 2000 के नोट, पुराने नोट के बदले दिए जाएंगे। बैंकों को जरूरत के मुताबिक एक्स्ट्रा काउंटर खोलने को कहा गया है। डर या अफरातफरी उन्हीं के बीच है जिनके पास कानूनी वैध राशि नहीं है।

Q. जिनके पास काला धन है, क्या उन्हें पैसा जमा कराने पर छूट मिलेगी?
जेटली. छूट का समय बीत गया है। यह आम माफी योजना नहीं है। सोर्स का खुलासा करना होगा। इनसे इनके इनकम टैक्स स्लैब के मुताबिक टैक्स वसूलेंगे और जुर्माना लेंगे। ज्यादा बड़ी गड़बड़ियां मिलीं तो कानूनी कार्रवाई भी होगी।

Q. जिनके परिवार में शादी हैं, उन्हें किस तरह की रियायत मिलेगी?
जेटली. शादी-ब्याह के मामले में ज्यादा प्रॉब्लम नहीं होगी। बड़ी खरीदारी कार्ड वगैरह से ही होती है। जल्द ही टेंट वाले, कैटरर्स और अन्य लोग भी चेक से पैसा लेने लगेंगे। इससे प्रॉब्लम पूरी तरह खत्म हो जाएगी।

Q.1000 का नोट बंद कर 2000 का ला रहे हैं तो कालाधन कैसे रुकेगा?
जेटली. 2000 का नोट इसलिए लाया गया है क्योंकि हमारी इकॉनोमी बड़ी है। ऐसे में बड़े नोट जरूरी हैं। मोरारजी के वक्त इकॉनोमी में 2% बड़े नोट थे। अब 86% है। ऐसे में यह कदम ठीक है। इससे इकॉनोमी मजबूत बनेगी।

Q. एटीएम से तो एक दिन में 2000 ही निकाल पाएंगे? ज्यादा जरूरत हुई तो?
जेटली. ये दिक्कतें केवल कुछ दिन ही हैं जब तक कि नई करंसी की सप्लाई बढ़ नहीं जाती। इसलिए एटीएम से रोज 2 हजार ही निकाल सकेंगे। ज्यादा जरूरत है तो चेक या विथड्रॉल फॉर्म से पैसे निकाले जा सकते हैं। वहां एक दिन में 10 हजार और हफ्ते में 20 हजार निकाल सकते हैं

Que.Ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..