माँ तू हे तो सब हे (मेरी माँ मेरी दुनिया) अपनी माँ के लिए जरुर पड़े.. - Top.HowFN.com

माँ तू हे तो सब हे (मेरी माँ मेरी दुनिया) अपनी माँ के लिए जरुर पड़े..



माँ सब सुनते ही हमें खुद के होने का अहसास होता हे ! ऐसा लगता हे मानो जन्नत सी मिल गयी हे ! हमारे हर सुख दुःख में वो हमारे साथ होती हे ! जब हम मुसीबत में होते हे तो सबसे पहला नाम माँ का ही पुकारते हे ! किसी ने सच ही कहा हे आसमां में जिसका अंत नहीं उसे भगवान कहते हे और सारे जंहा में जिसका अंत नहीं उसे माँ कहते हे ! आज की इस पोस्ट में, में आपको माँ से जुडी कुछ ऐसी ही बाते बताऊंगा ! जिसे पढके शायद आपके आँखों में आंसू आ जाये !


माँ खुद एक दुनिया हे, माँ का आंचल एक विराट समुन्द्र हे ! हम कितने भी बड़े हो उसमे समां ही जायेंगे ! माँ एक ऐसा अहसास हे जो हर एक बच्चे को होता हे ! माँ वो फ़रिश्ता हे जो हमें ईश्वर से प्राप्त होता हे ! माँ एक शब्द नहीं हे, उसकी गहराई में जाके देखो आपको प्रेम का अपार आनदं प्राप्त होगा जो हम चाहकर भी पूरी जिंदगी में नहीं पा सकते हे ! एक बच्चे के पास माँ का होना जैसे भगवान के पास पुरे ब्रह्मांड का होना ! माँ को चाहे किसी भी रूप में देख लो जैसे दुर्गा, शक्ति, काली वो एक सुन्दरता की मूरत हे ! माँ एक ऐसी जिज्ञासा हे जिसे खोजते रहो हमें हर दिन कुछ ना कुछ नया ही मिलेगा ! माँ उन 9 देवियों का रूप हे जो कठिन से कठिन परिस्तिथियों में अपने आस पास होने का अहसास दिलाती हे ! माँ भावनाओं का एक भव्य सागर हे जो कभी समाप्त नहीं होता हे ! जिस तरह तिरंगा देश का प्रतीक और आन बान शान हे वैसे माँ अपने बच्चे की आन बान और शान हे ! माँ की इज्जत करना 33 करोड़ देवी देवताओं की पूजा करने के समान हे ! इसलिए तो गणेश जी ने अपने माता-पिता की परिक्रमा की थी क्योकि उनके लिए वो ही पूरा ब्रम्हांड था ! माँ एक ऐसा अमृत और जीवन हे जिसने इसे पी लिया और जी लिया वो एक सोभाग्य वाला इंसान हे !

जिस प्रकार हमारी मातृभूमि हर हाल में हमारे देश का प्रतीक हे और जिसकी सुरक्षा और आजादी के लिए लाखो लोग शहीद हो गए उसी तरह माँ भी हमारे होने का प्रतीक हे और उसकी सुरक्षा करना हमारी जिम्मेदारी हे ! जैसे गाय माता हर रोज़ अपने बछड़े को पालती हे उसे अपना दूध पिलाती हे वैसे माँ भी हर समय हमारा ख्याल रखती हे ! जाने कितने ही दुःख उसने झेले होंगे, बहुत कुछ छुपाकर भी वो हमारे सामने मुस्कुराई हे ! कितनी रातों को जागी होगी, भूखी सोयी होगी, अपने बच्चो के लिए तड़पी होगी ! शायद तभी भगवान हर जगह नहीं आ सकता इसलिए माँ को बनाया हे !

जिसने माँ को भुला दिया वो इंसान नहीं हे वो एक राक्षस से भी बुरा हे ! माँ का प्यार हद से ज्यादा मीठा होता हे ! वो घर में सबसे ज्यादा हमारे पास रहती हे ! इसलिए हम माँ को तू और पापा को आप कहते हे ! उसने हमें जिंदगी से लड़ना सिखाया, मुसीबत में होसला बनाये रखना सिखाया ! कम से कम बड़े होने पर उसके दूध का कर्ज़ उतारना हमारा फर्ज़ हे !

आखिर में...

माँ एक दुआ हे,

माँ एक प्यार हे,

माँ एक अहसास हे,

माँ एक सार हे,

माँ एक दुनिया हे,

मेरी माँ मेरा पूरा संसार हे !

Love U Maa.....





0 Response to "माँ तू हे तो सब हे (मेरी माँ मेरी दुनिया) अपनी माँ के लिए जरुर पड़े.. "

Post a comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel