हवा में उड़ने के लिए एयरक्राफ्ट बना डाला और भी जुगाड़ - Top.HowFN

हवा में उड़ने के लिए एयरक्राफ्ट बना डाला और भी जुगाड़


jugaad pictures indian jugaad technology jugaad pune indian jugaad examples indian jugaad ideas jugaad gadi indian jugaad innovation desi jugaad
केरल के इडुक्की जिले के साजी थॉमस ने भी जुगाड़ एयरक्राफ्ट बना डाला।
केरल के इडुक्की जिले के साजी थॉमस ने भी जुगाड़ एयरक्राफ्ट बना डाला।

दिव्यांग ने बनाया था एयरक्राफ्ट  

- केरल के इडुक्की जिले के साजी थॉमस ने भी एक जुगाड़ एयरक्राफ्ट बना दिया था।
- 45 साल के थॉमस दिव्यांग थे। बावजूद इन्होंने 2 लोगों के बैठने वाला हल्का एयरक्राफ्ट बना डाला।
- उन्होंने इस एयरक्राफ्ट को बेकार और रीसाइकल सामान से बनाया था।
- इसके बाद इनका नाम कई रिकॉर्ड बुक्स में आया था और इनके ऊपर स्टोरी को डिस्कवरी चैनल के HRX सुपर हीरोज प्रोग्राम में भी थॉमस को दिखाया गया था।
- बता दें कि इस प्रोग्राम को ऋतिक रोशन ने होस्ट किया था।
ये ऐसी साइकिल है जिसे नदी में भी चला सकते हैं।
ये ऐसी साइकिल है जिसे नदी में भी चला सकते हैं।

चलेगी सड़क और पानी में, कबाड़ से बनाई खास साइकिल

- दुर्ग के निजी इंजीनियरिंग कॉलेज के टीचर और स्टूडेंट्स ने ऐसी साइकिल बनाई जिसे नदी में भी चला सकते हैं।
- चलाने का कोई अनोखा तरीका भी नहीं। पैडल मारिए और साइकिल सड़क और पानी दोनों पर आगे बढ़ेगी।
- बेस्ट फ्रॉम वेस्ट के जरिए बनी इसकी कुल लागत एक हजार से भी कम है।
- साइकिल और उस पर दो सवारी के वजन को एनॉलाइज किया तो आठ पीपे लगे।
- इन्हें दोनों तरफ बांधा। हैंडिल और कैरियर के बीच दो रॉड लगाई।
- इसमें पीपे के सेट दोनों ओर अटैच किया। बस, साइकिल तैयार।
- पिछले पहिए में पतवारें लगाई थी। पानी में पतवारें पैडल मारते ही साइकिल चलने लगती थी।
- डायनेमो से अटैच हैडलाइट भी लगी थी, ताकि रात में चल सके।
- जरूरत पड़ने पर बैटरी से भी चलाया जा सके।

सागर के बंटी मिर्जा ने गाड़ियों के कबाड़ से अपने बेटे के लिए बाइक बनाई थी।
सागर के बंटी मिर्जा ने गाड़ियों के कबाड़ से अपने बेटे के लिए बाइक बनाई थी।
10वीं पास ने कबाड़ से बनाई बाइक

- सागर के बंटी मिर्जा ने कबाड़ में पड़ी एक मोपेड और अन्य गाड़ियों के पार्ट्स से अपने बेटे के लिए जुगाड़ बाइक बना दी थी।
- बाइक कि खासियत यह कि बड़े तो इसे चला सकते ही हैं, बच्चों को भी चलाने में आसानी हो।
- बाइक बनाने का आइडिया उनके दिमाग में अचानक आया था।
- उन्होंने स्कूटर के टायर, मोपेड का इंजन, बाइक की टंकी, कार के फोक लैंप और अन्य गाड़ियों के पार्ट्स से चेसिस बनाया।
- इन सभी पार्ट्स से उन्हाेंने दो साल में बेटे के लिए नैनो बाइक तैयार कर दी।
- करीब 30 किलो वजनी ये नैनो बाइक एक लीटर पेट्रोल में 40 किलोमीटर चलती है।
राजस्थान के छतरपुर के मैकेनिक बबलू विश्वकर्मा ने कबाड़ से कार बना दी।
राजस्थान के छतरपुर के मैकेनिक बबलू विश्वकर्मा ने कबाड़ से कार बना दी।
पांचवीं पास ने कबाड़ से बनाई जुगाड़ की कार

- राजस्थान के छतरपुर के मैकेनिक बबलू विश्वकर्मा ने कबाड़ से कार बना दी।
- वे बताते हैं कि इसके लिए उन्होंने पहले इंटरनेट पर सर्च किया फिर अपने फ्रेंड्स की मदद ली।
- उन्होंने इसे बनाने में टैक्सी और मारुति 800 के पार्ट्स का उपयोग किया था।
- कार बनाने में करीब 70 हजार रुपए का खर्च आया। इसे बनाने में करीब आठ महीने का वक्त भी लगा।
- बबलू के मुताबिक यह फैमिली कार है। उन्होंने बताया कि पांच सीटर यह कार एक लीटर पेट्रोल में 30 किमी चलती है।
- इसमें एक और खासियत यह है कि यह सेल्फ स्टार्ट होने के साथ-साथ किक से भी स्टार्ट होती है

No comments

Powered by Blogger.