6 बीमारियां नींद न आने के कारण हो रही हे - Top.HowFN

6 बीमारियां नींद न आने के कारण हो रही हे


लेट नाइट तक वर्क करते हैं और फिर रात में घर आ कर देर से सो कर जल्‍दी उठते हैं तो सावधान हो जाइये। जो लोग अपनी नींद ठीक से पूरी नहीं करते यानी जो लोग 6-7 घंटों की नींद से कम सोते हैं उनकी सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है।

कम नींद और ज्‍यादा तनाव हमारे तन मन दोनों पर असर डाल सकता है। जिन लोगों की नींद रात में पूरी नहीं होती उन्‍हें हृदय रोग, डिप्रेशन, मधुमेह, ब्‍लड प्रेशर, मोटापा और अन्‍य बीमारिया होने का खतरा रहता है।  

ठीक ने नींद ना लेने से स्‍ट्रेस हार्मोन ‘कॉर्टिसोल' का स्तर बढ़ जाता है। इसका सीधा नाता हमारे शरीर के वजन से भी है। कई रिसर्च में पाया गया है कम सोने से भी हमारा वजन बढ़ता है।

आपको समझना चाहिये कि हमारा शरीर एक एसी मशीन है, जो बेहद संतुलित ढंग से काम करती है। समय पर भोजन तथा समय पर सोने से न केवल जीवन बेहतर होता है, बल्कि कभी कोई रोग भी नहीं लगता। 

जो लोग अपनी नींद ठीक से पूरी नहीं करते हैं, उन्‍हें आगे चल कर क्‍या क्‍या बीमारियां झेलनी पड़ सकती हैं।

भूलने की बीमारी सोने के दौरान आपका दिमाग फिर से पुनर्जीवित और ताजा होता है। दिमाग अपनी दिन भर की थकान को दूर करता है। अगर आप ठीक से सोएंगे नहीं तो आपका दिमाग सुबह डिसटर्ब रहेगा और आपको भूलने की बीमारी होती जाएगी।

डायबिटीज़ रात में पूरी नींद ना लेने से सुबह लोगों को ज्‍यादा शुगर और जंक फूड खाने की तलब लगती है। अगर आप ज्‍यादा शक्‍कर वाली चीज़ें खाएंगे तो आप ब्‍लड शुगर लेवल हाई हो जाएगा और आपको डायबिटीज़ होने की संभावना हो जाएगी। 

कैंसर कम सोने की वजह से ब्रेस्‍ट कैंसर और अन्‍य तरह के कैंसर भी हो सकते हैं। कैंसर पैदा करने वाले फ्री रैडिकल्‍स शरीर से बाहर निकलने में असमर्थ हो जाते हैं और शरीर में गंदगी जमती रहती है, जिससे अन्‍य बीमारियां पैदा होती हैं।

हार्ट अटैक और स्‍ट्रोक सोते वक्‍त हमारे शरीर से गंदगी निकलती है और शरीर रिपेयर होने लगता है। इसलिये हमें सुबह ढेर सारा पानी पीना चाहिये जिससे गंदगी मूत्र के माध्‍यम से बाहर निकल जाए। ठीक से ना सोने की वजह से हाई ब्‍लड प्रेशर का रिस्‍क होता है जिससे हार्ट अटैक और स्‍ट्रोक की संभावना बढ़ जाती है।

बार-बार पेशाब करने की इच्‍छा नींद ना पूरी करने की वजह से आपको बार बार पेशाब करने की इच्‍छा होगी मगर पेशाब नहीं होगी या फिर कम मात्रा में होगी।

चिंता और अवसाद जब दिमाग में हर वक्‍त चिंता बनी रहेगी तो आपको आगे चल कर डिप्रेशन की बीमारी हो सकती है। कम नींद लेने से कॉर्टिसोल नामक हार्मोन शरीर में बहने लगता है जिससे डिप्रेशन होता है।

No comments

Powered by Blogger.