विटामिन डी की कमी स्रोत फायदे लक्षण vitamin D deficiency sources hindi - Top.HowFN

विटामिन डी की कमी स्रोत फायदे लक्षण vitamin D deficiency sources hindi


 अन्य नाम

    विटामिन डी 2 या अर्गोकेलसीफेरोल (Vitamin D2 or Ergocalciferol)
    विटामिन डी 3 या कोलेकेलसीफेरोल (Vitamin D3 or Cholecalciferol)


2.  क्या करता है
यह आपके शरीर के हड्डीयों को बनाने और संभाल कर रखने में मदद करता है। साथ ही यह शरीर में केलसियम (calcium) के स्तर को नियंत्रित रखता है।

3.  अभाव के लक्षण 
इसके अभाव में हड्डी कमजोर होता है और टूट भी सकता है (फ्रेकचर या Fracture)। बच्चों में इस स्थिती को रिकेटस (Rickets) कहते हैं, और व्यस्क लोगों में हड्डी के मुलायम होने को ओस्टीयोमलेशिया (osteomalacia) कहते हैं। इसके अलावा, हड्डी के पतला और कमजोर होने को ओस्टीयोपोरोसिस कहते हैं।

4.  कैसे मिलता है?
विटामिन डी के अच्छे स्रोत हैं – अंडे का पीला भाग (egg yolk), मछली के तेल, विटामिन डी युक्त दूध और बटर में, और धूप सेकने से।

5.  बहुत अधिक खाने से लक्षण 
इससे शरीर के विभिन्न अंगों में, जैसे कि गुर्दे में, दिल में, खून के नसों में और अन्य जगह में, एक प्रकार का पथरी हो सकता है| यह केलसियम (calcium) का बना होता है। इससे बल्ड प्रेशर या रक्तचाप बढ सकता है, खून में कोलेसटेरोल अधिक हो सकता है, और दिल पर असर पर सकता है। साथ ही चक्कर आना, कमजोरी लगना और सिरदर्द हो सकता है। पेट खराब होने से दस्त भी हो सकता है। 
Powered by Blogger.