रामचरित मानस की हर चौपाई मंत्र की तरह सिद्ध है जाने - Top.HowFN.com

रामचरित मानस की हर चौपाई मंत्र की तरह सिद्ध है जाने

सैकड़ों साल पहले गोस्वामी तुलसीदास जी महाराज, श्री रामचरितमानस में लिखित हर चौपाई एक मंत्र की तरह पवित्र है। इस का सबसे सरल उदाहरण हनुमान चालीसा है। हनुमान चालीसा भी इन chaupais में बनाया गया था। रामचरितमानस के प्रत्येक रुबाई चमत्कारी प्रभाव पड़ता है।

रामचरित मानस की हर चैपाई मंत्र की तरह सिद्ध है और इनके ज्ञान से जीवन में कई समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है
रामायण की चौपाई से करें मनोकामना की पूर्ति
रामायण कामधेनु की तरह मनोवांछित फल देती है।

रामचरित मानस में कुछ चैपाइयां ऐसी हैं जिनका विपत्तियों तथा संकट से बचाव और ऋद्धि-सिद्ध तथा संपŸिा की प्राप्ति के लए मंत्रोच्चारण के साथ पाठ किया जाता है। इन चैपाइयों को मंत्र की तरह विधि विधान पूर्वक एक सौ आठ बार हवन की सामग्री से सिद्ध किया जाता है। हवन चंदन के बुरादे, जौ, चावल, शुद्ध केसर, शुद्ध घी, तिल, शक्कर, अगर, तगर, कपूर नागर मोथा, पंचमेवा आदि के साथ निष्ठापूर्वक मंत्रोच्चार के समय काशी बनारस का ध्यान करें।

किस कामना की पूर्ति के लिए किस चैपाई का जप करना चाहिए इसका एक संक्षिप्त विवरण यहां प्रस्तुत है।

ऋद्धि सिद्ध की प्राप्ति के लिए

साधक नाम जपहिं लय लाएं।
होहि सिद्धि अनिमादिक पाएं।।

धन सम्पत्ति की प्राप्ति हेतु

जे सकाम नर सुनहिं जे गावहिं। 

1 Response to

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel