जोड़-दर्द आर्थराइटिस गठिया कैसे दूर करे joint-pain kaise dur kare - Top.HowFN

जोड़-दर्द आर्थराइटिस गठिया कैसे दूर करे joint-pain kaise dur kare


उम्र के बढ़ने के साथ ही इंसान के शरीर में तरह तरह की कमजोरी आने लगती हैं. उनमें से एक है जोड़ों का दर्द. सही खान पान की मदद से हम खुद को जोड़ों (गठिया) के दर्द से दूर रख सकते हैं. आईए जोड़-दर्द/ घुटनों का दर्द/ आर्थराइटिस एवं गठिया आदि के रोगोपचारों के बारे में इन आजमाए हुए अचूक नुस्खों का पुनरावलोकन किया जाए:




१/. मैथी दाने, सौंठ और हल्दी समान मात्रा में मिलाकर, पीसकर नित्य सुबह-शाम भोजन करने के बाद गरम पानी से, दो-दो चम्मच फ़की लेने से लाभ होता है.

२/. रोज सुबह भूखे पेट एक चम्मच कुटे हुए मैथी दाने में 1 ग्राम कलौंजी मिलाकर एक बार फाँकी लें.

३/. मैथी दाने हमेशा सुबह खाली पेट जबकि दोपहर और रात में खाना खाने के बाद, आधा चम्मच मात्रा, पानी के साथ फाँकने से सभी जोड़ मजबूत रहेंगे और जोड़ों में किसी भी प्रकार का दर्द कभी नहीं होगा.

४/. हल्दी-चूर्ण, गुड़, मैथी दाना पाऊडर और पानी सामान मात्रा में मिलाकर, गरम करके इनका लेप, रात को घुटनों पर करें व पट्टी बाँधकर रातभर बंधे रहने दें. सुबह पट्टी हटा कर साफ कर लें. कुछ ही दिनों में जबरदस्त फायदा महसूस होने लग जाएगा.

५/. अलसी के दानों के साथ 2 अखरोट की मिगी सेवन करने से जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है.

६/. मैथी के लड्डू खाने से हाथ-पैर और जोड़ों के दर्दो में आराम मिलता है.

७/. 30 की उम्र के बाद मैथी दाने की फाँकी लेने से शरीर के जोड़ मजबूत बने रहते हैं तथा बुढ़ापे तक मधुमेह, ब्लड प्रेशर और गठिया जैसे रोगों से बचाव होता है.

८/. मैथी दानों को तवे या कढ़ाही में गुलाबी होने तक सेकें. ठंडा होने पर पीस लें. रोज सुबह खाली पेट आधा चम्मच, एक गिलास पानी के साथ लें.

९/. मैथी दानों को दरदरा कूटकर सर्दियों में 2 चम्मच और गर्मी में एक चम्मच की फाँकी सुबह-सुबह खाली पेट पानी के साथ लें.

१०/. अँकुरित मैथी दाने खाएँ और उसके खाने के बाद आधे घंटे तक कुछ न खाएँ.

११/. नीम का तेल एवं अरंडी का तेल बराबर मात्रा में मिलाकर सुबह-शाम इसकी मालिश कीजिए.

१२/. अगर कैल्शियम की कमी से जोड़ों का दर्द हो तो खाने वाला चूना खाईए. गेंहू के दाने के आकार का चूना दही या दूध में घोल कर दिन में एक बार के हिसाब से, 90 दिन तक लीजिए. ध्यान रखें 90 दिन से अधिक नहीं लेना है.

१३/. अगर घुटनों की चिकनाई ख़तम हुई हो गई हो और जोड़ो के दर्द में किसी भी प्रकार की दवा से आराम ना मिलता हो तो ऐसे लोग हारसिंगार (पारिजात) पेड़ के 12 पत्तों को कूटकर 1 गिलास पानी में उबालें. जब पानी एक चौथाई बच जाए तो बिना छाने ही ठंडा करके पी लें. 90 दिन में चिकनाई पूरी तरह वापिस बन जाएगी. अगर कुछ कमी रह जाए तो 1 महीने का अंतर देकर फिर से 90 दिन तक इसी क्रम को दोहराएँ. निश्चित लाभ की प्राप्ति होती है

लहसुन- भारत में सदियों से लहसुन का इस्तेमाल खाने में होता आया है. लहसुन भारतीय मसालों का प्रमुख अंग है. लहसुन का सेवन जोड़ों के दर्द के लिए भी होता है. चिकित्सा अध्ययन के मुताबिक लहसुन, प्याज और हरा प्याज जोड़ों के दर्द के लिए लाभकारी होते हैं. इनमें ऐसे पदार्थ होते हैं जो उपास्थि के ऊतक में एन्जाइम की कमी को दूर करते हैं.

बादाम और बीज

विभिन्न प्रकार के मेवों में विटामिन ई होता है. खासकर बादाम में बड़ी मात्रा में विटामिन ई होता है. कई शोध से पता चला है कि ओमेगा 3 फैटी एसिड शरीर में सूजन और गठिया के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है. ओमेगा 3 फैटी एसिड त्वचा, बाल, दिल और जोड़ों के लिए अच्छे होते हैं. सूर्यमुखी के बीज, अखरोट, बादाम, पीकन नट्स और सालमन मछलियों में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है.

पपीता

पपीता बहुत ही पौष्टिक फल है. इस पौष्टिक और रसीले फल में कई विटामिन होते हैं. पपीते में बड़ी मात्रा में विटामिन सी होता है. विटामिन सी न केवल प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए बेहतर है बल्कि जोड़ों की सेहत के लिए भी अच्छा है. पपीते का सेवन हड्डियों के लिए बेहद लाभकारी हो सकता है, सूजन रोकने वाले गुण भी होते हैं जो गठिया के कई रूपों से शरीर को दूर रखते हैं.
Ausstellung Herbst und Früchte in Kabul Afghanistan 2014
सेब

रोजाना एक सेब खाना काफी स्वास्थ्यवर्धक साबित होता है. सेब के साइडर विनिगर का इस्तेमाल किया जाए तो जोड़ों के दर्द से छुटकारा मिल सकता है. एक ग्लास पानी में एप्पल साइडर विनिगर यानि सिरका और शहद मिलाकर इस्तेमाल करने से जोड़ों के दर्द में राहत मिल सकती है.
26.09.2012 DW Fit und gesund Brokkoli
ब्रोकली

शोधकर्ताओं का कहना है खूब ब्रोकली खाने से गठिया की बीमारी ठीक हो सकती है. ब्रोकली में विटामिन ए, बी, सी, ई और के पाया जाता है. यह समय से पहले जोड़ों को बूढ़े होने से बचाते हैं.
Schuhe Frau Handtasche Blume
सही जूते

लंबे समय तक हाई हील जूते पहनने से बचना चाहिए. ऊंची एड़ी के जूते कमर और घुटनों में समस्या पैदा कर सकते हैं. जो महिलाएं अधिकतर ऊंची एड़ी के जूते पहनती हैं, उन्हें नस खिंचने की बीमारी का खतरा होता है.
Symbolbild Übergewicht
शरीर का वजन

कूल्हों और अन्य जोड़ों पर शरीर का वजन बहुत ज्यादा बोझ होता है. कसरत करने से जोड़ों का दर्द और जकड़न कम होती है. इससे लचीलापन, स्टेमिना और ताकत बढ़ती है.
Aspirin
कम करें दर्द की दवा

जोड़ों के दर्द में अक्सर लोग दर्द कम करने के लिए दवा का सेवन करते हैं. अगर जरूरत है तो इसका सेवन किया जा सकता है लेकिन यह समस्या का समाधान नहीं है. अगर दर्द नहीं जाता है तो अपने डॉक्टर से सलाह लें. कुछ खास कसरत हैं जिससे जोड़ों के दर्द को कम किया जा सकता है.
Senioren Sport Fitness Gymnastik
चलना फिरना और कसरत

जर्मन कहावत है कि अगर आप हिलेंगे नहीं तो शरीर में जंग लग जाएगा. अगर आप चाहते हैं कि आपके जोड़े फिट रहे तो उनका इस्तेमाल नियमित रूप से करें. कसरत, स्ट्रेचिंग से जोड़ों के दर्द को खत्म किया जा सकता है.
Symbolbild Aktive Familie
सही खेल

जो़ड़ों के लिए सटीक कसरत की जरूरत है. भारी कसरत से बचना चाहिए. कम दूरी के लिए साइकिल का इस्तेमाल करना, पैदल चलना चाहिए. जिन लोगों के जोड़ कमजोर हैं उन्हें घुटनों पर जोर देने वाले खेल से बचना चाहिए.

Knoblauch
लहसुन

भारत में सदियों से लहसुन का इस्तेमाल खाने में होता आया है. लहसुन भारतीय मसालों का प्रमुख अंग है. लहसुन का सेवन जोड़ों के दर्द के लिए भी होता है. चिकित्सा अध्ययन के मुताबिक लहसुन, प्याज और हरा प्याज जोड़ों के दर्द के लिए लाभकारी होते हैं. इनमें ऐसे पदार्थ होते हैं जो उपास्थि के ऊतक में एन्जाइम की कमी को दूर करते हैं.
Mandeln
बादाम और बीज

विभिन्न प्रकार के मेवों में विटामिन ई होता है. खासकर बादाम में बड़ी मात्रा में विटामिन ई होता है. कई शोध से पता चला है कि ओमेगा 3 फैटी एसिड शरीर में सूजन और गठिया के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है. ओमेगा 3 फैटी एसिड त्वचा, बाल, दिल और जोड़ों के लिए अच्छे होते हैं. सूर्यमुखी के बीज, अखरोट, बादाम, पीकन नट्स और सालमन मछलियों में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है.
Papaya
पपीता

पपीता बहुत ही पौष्टिक फल है. इस पौष्टिक और रसीले फल में कई विटामिन होते हैं. पपीते में बड़ी मात्रा में विटामिन सी होता है. विटामिन सी न केवल प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए बेहतर है बल्कि जोड़ों की सेहत के लिए भी अच्छा है. पपीते का सेवन हड्डियों के लिए बेहद लाभकारी हो सकता है, सूजन रोकने वाले गुण भी होते हैं जो गठिया के कई रूपों से शरीर को दूर रखते हैं.
Ausstellung Herbst und Früchte in Kabul Afghanistan 2014
सेब

रोजाना एक सेब खाना काफी स्वास्थ्यवर्धक साबित होता है. सेब के साइडर विनिगर का इस्तेमाल किया जाए तो जोड़ों के दर्द से छुटकारा मिल सकता है. एक ग्लास पानी में एप्पल साइडर विनिगर यानि सिरका और शहद मिलाकर इस्तेमाल करने से जोड़ों के दर्द में राहत मिल सकती है.
26.09.2012 DW Fit und gesund Brokkoli
ब्रोकली

शोधकर्ताओं का कहना है खूब ब्रोकली खाने से गठिया की बीमारी ठीक हो सकती है. ब्रोकली में विटामिन ए, बी, सी, ई और के पाया जाता है. यह समय से पहले जोड़ों को बूढ़े होने से बचाते हैं.
Schuhe Frau Handtasche Blume
सही जूते

लंबे समय तक हाई हील जूते पहनने से बचना चाहिए. ऊंची एड़ी के जूते कमर और घुटनों में समस्या पैदा कर सकते हैं. जो महिलाएं अधिकतर ऊंची एड़ी के जूते पहनती हैं, उन्हें नस खिंचने की बीमारी का खतरा होता है.
Symbolbild Übergewicht
शरीर का वजन

कूल्हों और अन्य जोड़ों पर शरीर का वजन बहुत ज्यादा बोझ होता है. कसरत करने से जोड़ों का दर्द और जकड़न कम होती है. इससे लचीलापन, स्टेमिना और ताकत बढ़ती है.
Aspirin
कम करें दर्द की दवा

जोड़ों के दर्द में अक्सर लोग दर्द कम करने के लिए दवा का सेवन करते हैं. अगर जरूरत है तो इसका सेवन किया जा सकता है लेकिन यह समस्या का समाधान नहीं है. अगर दर्द नहीं जाता है तो अपने डॉक्टर से सलाह लें. कुछ खास कसरत हैं जिससे जोड़ों के दर्द को कम किया जा सकता है.
Senioren Sport Fitness Gymnastik
चलना फिरना और कसरत

जर्मन कहावत है कि अगर आप हिलेंगे नहीं तो शरीर में जंग लग जाएगा. अगर आप चाहते हैं कि आपके जोड़े फिट रहे तो उनका इस्तेमाल नियमित रूप से करें. कसरत, स्ट्रेचिंग से जोड़ों के दर्द को खत्म किया जा सकता है.
Symbolbild Aktive Familie
सही खेल

जो़ड़ों के लिए सटीक कसरत की जरूरत है. भारी कसरत से बचना चाहिए. कम दूरी के लिए साइकिल का इस्तेमाल करना, पैदल चलना चाहिए. जिन लोगों के जोड़ कमजोर हैं उन्हें घुटनों पर जोर देने वाले खेल से बचना चाहिए.

1 comment:

  1. meri age 45 year hai,pair k ghutane me khat khat ki awaj aati hai.chalen phirne me bahut dard hota,weight bhi bahut hai,in dono k liye kya upay kare

    ReplyDelete

Powered by Blogger.