अरविंद केजरीवाल जीवनी परिचय Arvind Kejriwal jivan parichay - Top.HowFN

अरविंद केजरीवाल जीवनी परिचय Arvind Kejriwal jivan parichay

Arvind Kejriwal jivan parichay
   अरविंद केजरीवाल   

आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल के जीवन परिचय एक नजर में–
– भारतीय राजनीति के नए सितारे और आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल का जन्म 16 अगस्त, 1968 में हरियाणा के हिसार शहर में हुआ।

– उन्होंने वर्ष 1989 में आईआईटी खड़गपुर से यांत्रिक अभियांत्रिकी में स्नातक की उपाधि प्राप्त की।

– वर्ष 1992 में अरविंद भारतीय नागरिक सेवा (आईसीएस) के एक भाग, भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) में आए।

– नवम्बर 1994 में आईआरएस के प्रशिक्षण के दौरान वह सुनीता से विवाह बंधन में बंध गए।

– शुरूआत में अरविंद ने आयकर कार्यालय में पारदर्शिता बढ़ाने के लिए कई परिवर्तन लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

– सरकारी काम में भ्रष्टाचार एवं पारदर्शिता की कमी के कारण उन्होंने फरवरी 2006 में आईआरएस सेवा से इस्तीफा दे दिया।

– दूसरों को प्रेरित करने के लिए अरविंद केजरीवाल ने स्वयं अपने संस्थान के माध्यम से एक आरटीआई पुरस्कार की शुरुआत की।

– उन्होंने सूचना अधिकार अधिनियम के लिए अरुणा रॉय व अन्य लोगों के साथ मिलकर अभियान शुरू किया। 

जिसके कारण दिल्ली में सूचना अधिकार अधिनियम को 2001 में पारित किया गया।

– जिसे बाद में राष्ट्रीय स्तर पर भारतीय संसद ने 2005 में सूचना अधिकार अधिनियम (आरटीआई) को पारित कर दिया।

– भारत में सूचना अधिकार अर्थात सूचना कानून (सूका) के आन्दोलन को जमीनी स्तर पर सक्रिय बनाने व उत्कृष्ट नेतृत्व के लिए हेतु वर्ष 2006 में उन्हें रमन मेगसेसे अवार्ड प्रदान किया गया।

– 6 फरवरी 2007 को, अरविंद को वर्ष 2006 के लिए लोक सेवा में सीएनएन आईबीएन 'इन्डियन ऑफ़ द इयर' के लिए नामित किया गया।

– आम आदमी पार्टी के नाम से एक नये राजनीतिक दल की स्थापना अरविंद केजरीवाल एवं लोकपाल आंदोलन के सहयोगियों द्वारा 26 नवम्बर 2012, भारतीय संविधान अधिनियम की 63 वीं वर्षगांठ के अवसर पर दिल्ली स्थित जंतर मंतर पर की गई।

– 2 अक्तूबर, 2012 को अपने राजनीतिक सफर की औपचारिक शुरुआत उन्होंने बाकायदा गांधी टोपी पहनकर की। टोपी पर उन्होंने लिखवाया, "मैं आम आदमी हूं।"

– 2013 के दिल्ली विधान सभा चुनावों मे अरविंद केजरीवाल ने लगातार 15 साल से दिल्ली की मुख्यमंत्री रही श्रीमति शीला दीक्षित को 25864 मतों से हराया।

– दिल्ली के 7वें मुख्यमन्त्री के रूप में वह 28 दिसम्बर, 2013 से 14 फ़रवरी, 2014 तक कुल 49 दिन रहे।

Arvind Kejriwal jivan parichay


Arvind Kejriwal जी का जन्म जन्माष्टि के दिन हुआ था जिस वजह से घर के सभी लोग उन्हें कान्हा के नाम से बुलाते थे| Arvind Kejriwal ने अपना बचपन उत्तरप्रदेश के Hisar, Sonipat एवं Gaziyabad में बिताया है| उनकी स्कूली शिक्षा Campus school, Hisar से हुई है| school के दिनों से ही Arvind Kejriwal अपने कम के प्रति बहुत तत्पर थे| उन्हें drama एवं debate में बहुत interest था एक बार जब वे debate में भाग लिए थे तब उनकी तबियत खराब हो गई थी तो फिर Arvind Kejriwal कम्बल लपेटकर school गए और debate में भाग लिया वे नहीं चाहते थे कि उनकी वजह से उनका house हार जाये|

सन 1989 में Arvind Kejriwal ने IIT Khadakpur से Mechanical engineering में degree प्राप्त की| college में Arvind जी बहुत से drama में participate करते थे, ये उस समय की देश की दशा को बताते थे| इसके बाद उन्होंने 1989 में Tata Steel company join कर ली और जमशेदपुर चले गए| 1992 वे अपने इस काम से उब गए और कुछ सामाजिक कार्य करने की चाह में Tata group के head के पास जाकर उनके Social welfare department में काम करने की इच्छा जाहिर की, उनके मना करने पे Arvind Kejriwal ने Tata छोड़ दी और civil service की तयारी करने लगे| उन्होंने एक attempt clear कर दिया था जिससे उन्हें IRS मिला था|

Jamshedpur में उन्होंने Mother Teresa का बहुत नाम सुना था तो उनके साथ कम करने की चाह में Arvind जी Kolkata चले गए| वह वे Mother Teresa से मिले और उनके साथ काम करने की इच्छा बताई तब Mother Teresa ने उन्हें कालीघाट आश्रम जाकर काम करने को कहा| वहां उन्होंने 2 महीने काम किया| Arvind जी कहते है Mother Teresa से मिलना उनकी life का turning point था| Arvind जी हमेशा से ही देश के लिए कुछ करना चाहते थे जब college में उनके सभी साथी विदेश जा रहे थे career बनाने, higher study के लिए तब Arvind जी भी जा सकते थे, उनका college में CGPA more than 8.5 था| लेकिन देश के लिए कुछ कर दिखाने के जज्बे ने उन्हें देश से बाहर जाने नहीं दिया| Arvind जी ने civil service का exam भी इसीलिए दिया था ताकि वे देश के लिए कुछ कर पायें|

सन 1995 में Arvind जी ने आयकर विभाग में Joint Commissioner बन गए| Arvind जी का कहना था की income tax department बहुत ईमानदार है वहां पर अगर आप सच्चाई से काम कर रहा है तो सभी आपका साथ देंगे| किन्तु भ्रष्टाचार ने अपनी जड़े मजबूत बना ली थी जिसको दूर करने के लिए पारदर्शिता की जरुरत थी| Arvind जी ने यही से भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग शुरू कर दी थी, वे अपने पद के अंदर आने वाले सभी काम बड़ी ईमानदारी से करते थे|

सन 2000 में Arvind Kejriwal ने आयकर विभाग से 2 साल की छुट्टी ले ली जिसके तहत उन्हें salary नहीं मिलती थी| इस दौरान उन्होंने ‘परिवर्तन’ नाम की NGO की स्थापना की| ये संस्था Delhi में आयकर एवं बिजली विभाग में सभी आम आदमी के कम free में करवाती थी| उन्होंने Delhi में इसके पर्चे बाटें कि आयकर एवं बिजली विभाग में अगर कोई कर्मचारी आपसे रिश्वत मांगे तो आप हमारे पास आओ हम आपका काम free में करवाएंगे| तक़रीबन 800 लोगों का काम Arvind Kejriwal ने 1 साल के अंदर free में करवाया| Arvind Kejriwal कभी भी परिवर्तन संस्था का चेहरा नहीं रहे वे हमेशा पीछे से काम करते थे| सामने दिखने वाले चेहरे Manish Sisodiya और अन्य लोगो के थे| सन 2003 में Arvind Kejriwal ने एक बार फिर आयकर विभाग join कर लिया और 18 महीने तक काम किया|
अरविन्द केजरीवाल भ्रष्ट्राचार के विरोध में बने जंग का हिस्सा

Arvind Kejriwal चाहते थे system बदले लेकिन system से बाहर रहकर वे इसे नहीं बदल सकते थे वे अपना काम Delhi तक ही सिमित नहीं रखना चाहते थे, पूरे देश में भ्रष्टाचार ख़तम करना चाहते थे| और फिर सन 2006 में Arvind Kejriwal ने आयकर विभाग से इस्तीफा दे दिया और पूरी तरह से परिवर्तन संस्था के साथ जुडकर कम करने लगे| सन 2006 में Arvind Kejriwal ने पुरे देश में RTI बारे में जागरूकता फ़ैलाने के लिए एक आन्दोलन चलाया| RTI के through आम आदमी अपनी सरकार से उसके कामों को लेकर सवाल जबाब कर सकता है| हांलाकि इस शक्तिशाली उपकरण को आम आदमी तक पहुँचने में अभी समय लगेगा|

Arvind Kejriwal सन 2011 में Anna Hazare जी के साथ मिल कर जन लोकपाल बिल pass कराने की लड़ाई में कूद पड़े| Anna Hazare की अनुवाई में चले India Against Corruption(IAC) आन्दोलन में वे आमरण अनशन पे भी बैठे रहे| इस तरह उन्होंने सब तरीके से सरकार के कामों को बदलना चाहा |

अरविन्द केजरीवाल राजनेतिक शुरुवात

जब उनके इन सब कामों से भी सरकार ने कुछ नहीं किया तब Arvind Kejriwal ने सरकार को ही बदलना चाहा और राजनीती में आकर 2 अक्टूबर 2012 को स्वयं की राजनीती पार्टी ‘आम आदमी पार्टी’ का गठन कर दिया| इस Party के साथ उन्होंने 2013 में Delhi विधानसभा में चुनाव लड़ा| और 15 साल से मुख्यमंत्री के पद पर विराजमान कांग्रेस की Sheela Dixit जी को 8 के मुकाबले 28 सीट से हरा कर जीत हासिल की और भारत के पहले इतनी कम उम्र के मुख्यमंत्री बन गए| 26 December को Arvind Kejriwal ने Delhi के रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपत लेंगे| हम चाहते है वे ईमानदारी से साहसपूर्वक कार्य करे एवं हम इनके उज्जवल भविष्य की कामना करते है|

No comments

मोबाइल नो. ना डाले नेट पर सभी को देखेगा सिर्फ अपने विचार दे कमेंट्स बॉक्स में ✓ Notify me क्लिक करले अगले 48 घंटे में जवाव देने का प्रयास करेगे, विज्ञापन कमैंट्स ना करे 1 घंटे के अंदर हटा दी जाएगी विज्ञापन चार्ज पे कर Ads दिखाए

Powered by Blogger.