Union budget highlights hindi मोदी सरकार ने इस ब़जट में देश के राष्ट्रपति सहित राज्य के राज्यपालों की तनख्वाह को बढ़ा दिया है. union budget 2018 date 2018-19 presentation date 2018 budget date india budget 2018 india income tax union budget 2018 expectations rail budget 2018 date union budget 2018-19 expectations union budget 2018-19 date
जहां पर पहले हमारे देश के राष्ट्रपति को डेढ़ लाख रुपये की सैलरी दी जाती थी. वहीं इस बजट में उनकी सैलरी को पांच लाख का कर दिया गया है. राष्ट्रपति के अलावा उप राष्ट्रपति को अब 1.25 लाख की जगह चार लाख की वेतन दी जाएगी. वहीं राज्यों के राज्यपालों को उनके कार्य के लिए सरकार द्वारा अब 3.5 लाख रुपये हर महीने दिए जाएंगे.

इनकम टैक्स की दरों में कोई बदलाव नहीं (No change in income tax structure)

देश की जनता को उम्मीद थी कि इस साल के बजट में मोदी सरकार द्वारा आयकर की दरे थोड़ी कम की जा सकती हैं. लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ. बजट पेश करते हुए जेटली ने कहा कि इस बार भी आयकर दर वही हैं जो कि पिछले साल थी. इसके अलावा मानक कटौती यानी स्टैंडर्ड डिडक्शन के जरिए सरकार ने आम आदमी को राहत देने की कोशिश की है. मानक कटौती के तहत आपकी आमदनी पर लगने वाले टैक्स पर चालीस हजार की छूट दी जाएगी.

इनकम टैक्स स्लैब की जानकारी 2018 2019 income tax slab hindi  
60 साल से कम उम्र वालों के लिए इनकम टैक्स

0 – 2.5 लाख रुपए–
(जो व्यक्ति साल में 2.5 लाख रुपये तक के पैसे कमाता है, उसकी आय पर लगने वाला कर)
0%  कमाई का देना होगा

2.5 लाख से 5 लाख
(जो व्यक्ति 2.5 लाख से अधिक और पांच लाख तक पैसे कमाता हैं उसकी आय पर लगने वाला कर)
5% कमाई का देना होगा

5 लाख से 10 लाख
(5 लाख और उससे अधिक और 10 लाख तक की सैलरी पर लगने वाला कर)
20% कमाई का देना होगा

10 लाख से ऊपर  की आय पर लगने वाला कर- 30% कमाई का देना होगा


 सीनियर सिटीजन 60-79 उम्र वालों के लिए इनकम टैक्स 2018-19  income tax slab hindi  for senior citizen

कितनी आय आय पर लगने वाला कर
0 से 3 लाख रुपए –
(जो व्यक्ति साल में तीन लाख रुपए तक पैसे कमाता हैं उसकी आय पर लगने वाला कर)
0% कमाई का देना होगा

3 लाख से 5 लाख
(जो व्यक्ति 3 लाख और उससे अधिक और पांच लाख तक पैसे कमाता हैं उसकी आय पर लगने वाला कर)
5% कमाई का देना होगा

5 लाख से 10 लाख
(5 लाख और उससे से अधिक और 10 लाख तक की सैलरी पर लगने वाला कर)
20% कमाई का देना होगा

10 लाख से ऊपर  की आय पर लगने वाला कर 30% कमाई का देना होगा


  80 और उससे ज्यादा उम्र वालों के लिए इनकम टैक्स- 2018-19
कितनी आय आय पर लगने वाला कर
0 से 5 लाख रुपये 0%
5 लाख से 10 लाख रुपये 20%
10 लाख से ऊपर की सैलरी 30%
वरिष्ठ नागरिक को बजट में मिली राहत (relief for senior citizens) –

10 हजार के ब्याज पर कर नहीं देना होगा कर–
वरिष्ठ नागरिक को थोड़ी राहत देते हुए सरकार ने उनकी जमा राशि पर मिले वाले ब्याज की सीमा पर लगने वाले कर पर छूट दी है. यानी अब जमा राशि पर मिलने वाले 50 हजार रुपये तक के ब्याज पर किसी भी तरह का कर वरिष्ठ नागरिक को नहीं देना होगा. पहले ये राशि सीमा 10 हजार रुपये की थी.

टीडीएस काटने की जरूरत नहीं–
नए बजट के अनुसार अब वरिष्ठ नागरिक को टीडीएस कटवाने से राहत दी गई है. इसके अलावा हेल्थ बीमा और इलाज पर होने वाले खर्चे पर लगने वाली कर की सीमा को 50,000 रुपये कर दिया है. पहले 30,000 रुपये तक के किसी भी इलाज पर कर देना होता था.

प्रधानमंत्री वाया वंदना योजना की अवधि बढ़ी
इस बजट में वरिष्ठ नागरिक के लिए साल 2017 में शुरू की गई प्रधानमंत्री वाया वंदना योजना की समय सीमा को बढ़ाने का प्रस्ताव दिया गया है. इस प्रस्ताव के अनुसार ये योजना मार्च 2020 तक बढ़ाई जा सकती है. इतना ही नहीं इस योजना की मौजूदा निवेश सीमा को भी बढ़ाने का प्रस्ताव है. अगर ये प्रस्ताव मान लिया जाता है तो ये सीमा 7.5 लाख रुपये से बढ़कर 15 लाख रुपये की हो जाएगी.

भारतीय रेलवे पर सरकार का बजट (Government budget on Indian Railways)–

सरकार ने अपने इस बजट में भारतीय रेलवे के लिए 1 लाख 48 हजार करोड़ रुपये की राशि रखी है. इस राशि से सरकार रेलवे की सुविधाओं को और बेहतर करने की कोशिश करेगी. इसके अलावा  3600 नई रेल लाइनें बनाने की बात इस बजट में कही गई है. वहीं सरकार का लक्ष्य आनेवाले साल में देश में 600 रेलवे स्टेशनों को आधुनिक बनाने का भी है. इसके अलावा मुंबई की लाइफ लाइन कहे जाने वाली लोकल ट्रेनों के लिए भी सरकार खास योजना बनाएगी. इसके अलावा वडोदरा में रेलवे विश्वविद्यालय भी बनाया जाएगा. जहां पर रेलवे से जुडी पढाई करवाई जाएगी.

एयरपोर्ट की संख्या बढ़ेगी
रेलवे के अलावा सरकार ने देश में एयरपोर्ट की संख्याओं को भी बढ़ाने का लक्ष्य तय किया है. बजट में सरकार ने देश में मौजूदा हवाई अड्डा की संख्या को पांच गुना करने की बात कही हैं. गौरतलब है कि मोदी सरकार चाहती है कि देश का हर नागरिक आसानी से हवाई यात्रा कर सके.

किसानों को मिली राहत

इस बजट में देश के किसानों का खासा ध्यान रखा गया है और जेटली ने बजट पेश करते हुए कहा कि अब किसानों को उनकी फसल पर आनेवाले खर्चे का डेढ़ गुना दाम दिया जाएगा. सरकार के इस फैसले से अब किसानों को होने वाले नुकसान को रोका जा सकेगा.

गरीब परिवारों के लिए योजनाएं
देश के गरीब परिवारों को मद्देनजर रखते हुए इस बजट में उनको काफी राहत और मदद दी गई है. बजट के अनुसार सरकार राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना के जरिए देश के करीब दस करोड़ गरीब परिवारों की मदद करने जा रही है और उन्हें पांच लाख रुपये तक का स्वास्थय बीमा दिया जाएगा. इसके अलावा आठ करोड़ गरीब परिवारों को मुफ्त गैस कनेक्शन मुहैया करवाएं जाएंगे. इसके अलावा मत्स्य पालन और पशुपालकों किसानों को क्रेडिट कार्ड का लाभ मिल सकेगा.

देश में बेरोजगारी कम करने की कोशिश
लोगों को खासा उम्मीद थी कि इस बजट में देश में बढ़ रही बेजरोगारी को खत्म करने के लिए सरकार द्वारा कुछ किया जाएगा. वहीं सरकार ने इस बजट में आनेवाले साल में देश में 70 लाख नई नौकरियां लाने का अपना लक्ष्य तय किया है.

महिला को मिलने वाली राहत
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के लिए अब देश की कामकाजी औरतों को पहले 3 साल के लिए केवल 8% राशि अपनी सैलरी से देनी होगी. पहले के नियमों के अनुसार हर कर्मचारी को अपनी सैलरी में से 12% रुपये ईपीएफ के लिए देने होते थे. वहीं अब बजट के आने के बाद से महिलाओं के हाथों में हर महीने आने वाली उनकी वेतन में बढ़ोत्तरी होगी और केवल 8% रुपये ही उनकी सैलरी से काटे जाएंगे.

गांव में दी जाएगी मुफ्त बिजली –
2018-2019 के ब़जट में ग्रामीण क्षेत्रों की तरक्की के मद्देनजर सरकार ने सौभाग्य योजना के जरिए गांव में मुफ्त बिजली देने का फैसला किया है. सरकार की कोशिश होगी की वो देश के 4 करोड़ घरों को ये सुविधा जल्द से जल्द दे सके.

2018-2019 के बजट की महत्वपूर्ण बातें (Key Highlights Information On 2018-2019 Budget in hindi)-
ऊपर दी गई जानकारी के अलावा इस साल के बजट में ओर क्या-क्या खास रहा है उसके बारे में नीचे जानकारी दी गई है, जो कि इस प्रकार है-

क्या हुआ महंगा- ज्यादातर देश के नागरिक इसी बात का इंतजार कर रहे थे कि इस बजट को पेश करने के बाद किन चीजों के दामों में वृद्धि होगी और कौन सी चीजे सस्ती होनी. वहीं इस बजट के बाद जो चीजे महंगी हो सकती हैं उनमें मोबाइल फोन, टीवी, वीडियो गेम, फलों का रस, सौंदर्य या मेक-अप उत्पाद, चप्पल-जूते, स्कूटर, चश्मा और इत्यादि चीजे शामिल हैं.

क्या हुआ सस्ता- साल 2018-2019 के बजट को पेश करने के बाद जिन चीजों के दाम कम हो सकते हैं, वो इस प्रकार हैं- काजू, ईंटें, ब्लॉक, टाइल्स पेट्रोल, डीजल और इत्यादि चीजें.
राष्ट्रीय बांस मिशन देश में बांस के व्यापार को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है. सरकार ने इस बजट में राष्ट्रीय बांस मिशन के लिए देश के राजकोष में से 1,290 करोड़ रुपये देने का फैसला लिया है.

शौचालयों बनाने का लक्ष्य सरकार ने आनेवाले साल में देश में कई शौचालय बनाने की घोषणा की है. सरकार का लक्ष्य है कि वो 2 करोड़ शौचालय जल्द से जल्द देश में बना सके.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..