सिकन्दर की मरने पर 3 इच्छाएं क्या थी sikandar mahan quotes history - Top.HowFN.com

सिकन्दर की मरने पर 3 इच्छाएं क्या थी sikandar mahan quotes history

सिकन्दर का नाम तो हम सबने सुना हे. उसने अपने जीवनकाल में आधी दुनिया जीत ली थी. पूरी दुनिया को जीतने का उनका सपना पूरा ना हो सका लेकिन मरने के बाद उनकी तीन इच्छाएं जरुर थी. यह तीन इच्छाएं यह बताती हे की इंसान के जाने के बाद कुछ नहीं बचता हे. आईये जानते सिकन्दर की मरने के बाद की तीन इच्छाएं.
Sikndar’S 3 Wishes After Die

1. जिन हकीमों ने मेरा इलाज किया वे सब मेरे जनाजे को कंधा दे.
क्यों :- ताकि लोगों को पता चल जाए की हकीम भी मरने से रोक नहीं सकता. कहते हे ना की जब दवा काम नहीं आती तब दुआ काम आती हे. लेकिन होता वही हे जो उपरवाले को मंजूर होता हे.

2. मेरे जनाजे के रास्ते में सारी दौलत बिछा दी जाए जो मैंने जिंदगी भर कमाई थी.

क्यों :- ताकि लोगों को पता चल जाए की जब मौत आती हे तो कोई दौलत काम नहीं आती हे. 

यह भी पढ़े पिता के बारे में किस उम्र में क्या सोचती हे उसकी संताने

3. जब मौत के बाद जनाजा निकले तो दोनों हाथ बाहर लटकाएं जाए.
क्यों :- ताकि सबको पता चल जाये की इंसान खाली हाथ आया था और खाली हाथ ही जायेगा.

कहने वाले ने सच ही कहा हे तकलीफ तो जिंदगी देती हे मौत तो सबको सुकून की नींद सुला देती हे. इसलिए अपनी जिंदगी में अच्छा काम करिए की लोग आपको मरने के बाद भी याद करें.

0 Response to "सिकन्दर की मरने पर 3 इच्छाएं क्या थी sikandar mahan quotes history"

Post a comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel