यौन स्वास्थ्य और व्यवहार के राष्ट्रीय सर्वेक्षण (NSSHB) से पता चला है कि 14-17 वर्ष आयु वर्ग के किशोरों में से, 48% लड़कियों और 73% लड़कों ने हस्तमैथुन किया है. 25-29 आयु वाले लोगों में से लगभग 85% महिलाओं और 94% पुरुषों ने हस्तमैथुन किया है.
महिला और पुरुष दोनों अपनी उत्तेजना को शांत करने के लिए हस्तमैथुन करते हे. अगर संतुलित हस्तमैथुन किया जाए तो इसके शारीरिक और मानसिक फायदे हे. लेकिन हद से ज्यादा हस्तमैथुन से नुकसान हो सकता हे. महिलाएं अक्सर अपनी उतेजना को शांत करने के लिए हस्तमैथुन करती हे, लेकिन कुछ सावधानियां हे जिनका ध्यान रखना जरुरी हे वरना इसके नुकसान हो सकते हे.
loading...
 

यह भी पढ़े अब एक माँ पाली नहीं जाती True Story

Masturbation Tips For Women
1. हस्तमैथुन की आदि महिलाओं को अपने पति से संबध बनाने में परेशानी होती हे. हस्तमैथुन की आदि होने से वे सेक्स को भी सही से एन्जॉय नहीं कर पाती हे.

2. अगर हस्तमैथुन की आदि महिलाएं किसी वजह से हस्तमैथुन ना कर पायें तो वे चिढ़चिढ़ी हो जाती हे.

3. ज्यादा हस्तमैथुन करने से महिलाओं के यूरीन में से ब्लड आने लगता हे.

4. नियमित हस्तमैथुन करने से महिलाओं के गुप्तांग में सूखापन आने लगता हे. मासिक धर्म और पीरियड में भी समस्याएँ आने लगती हे.

5. हस्तमैथुन करते टाइम यह ध्यान रखना चाहिए की योनी को बहुत अधिक जोर से नहीं रगड़ना चाहिए वरना इससे शारीरिक नुकसान हो सकता हे. आराम से सहलाने और उत्तेजना से इन हिस्सों को कोई नुकसान नहीं होता हे.

Que.Ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..