कही बार ऐसा होता हे की ऑफिस में हमारा मन नहीं लगता हे, सिर्फ मज़बूरी हे की पैसा कमाना हे इसलिए ऑफिस जाना पड़ता हे. कभी-कभी कोई असाइनमेंट मिलता हे अगर उसमे कोई गलती हो जाए तो भी हम उखड़े-उखड़े रहते हे. लेकिन खुद को दोष देने से क्या होगा क्या पता आपके ऑफिस का माहोल भी इसके लिए जिम्मेदार हो. आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की क्या करे जब ऑफिस में आपका मन ना लगे.

1. बॉस और साथ में काम करने वाले हे खडूस
कही बार ऐसा होता हे की आपका बॉस या आपके साथ कम करने वाले खडूस हो और बात-बात पे लड़ने पे आ जाये. बॉस और साथियों का व्यवहार भी आपके काम की गुणवता को प्रभावित करता हे.

2. अपनी सोच को रखे सकारात्मक
कैसी भी कंडीसन आ जाये लेकिन अपनी सोच को हमेशा सकारात्मक रखे. यदि आप मेंटली टफ नहीं हे तो आप माहोल की वजह से जल्दी निराश हो जायेंगे. इसलिए अपनी सोच को सकारात्मक रखे और जल्दी हताश ना हो.

3. समस्या को पहचाने
बॉस और साथियों के ऐसे व्यवहार की वजह क्या हे इसे पहचाने. आप उनसे खुलकर बात करे, उनकी मन की स्थिति को समझे. हो सकता हे की, वो बातो-बातो में आपको अपनी नाखुशी की वजह बता दे और जब आपको एक बार वजह पता लग जाएगी तो आप आसानी से उसका हल निकल लेंगे.

4. बुराई ना करे
यदि आपका बॉस या आपका कोई साथी दफ्तर में ठीक से काम नहीं कर रहा हे तो आप अन्य लोगो से उनकी बुराई ना करे. आप हमेशा उनका पॉइंट ऑफ़ व्यू दूसरों को समझाने की कोशिस करे. आपका यह पॉजिटिव attitude हमेशा काम आएगा.

5. लक्ष्य पर ध्यान दे
कोई भी कम करते वक्त यह बात हमेशा याद रखे की आपका लक्ष्य क्या हे?? यदि आप करियर में नई ऊँचाइयों को छुना चाहते हे तो छोटी-छोटी नाकामियों से परेशान ना हो और ना ही साथियों की छोटी-छोटी बातो से. उनकी और से की जाने वाली बुराइयों पर भी ध्यान ना दे. याद रखे की अगर हमेशा छोटी बातो में ही फंसकर रहे तो छोटा बनकर ही रह जाओगे.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..