जिंदगी में रिश्ते बड़े मुश्किल से बनते हे और उन्हें टूटने में जरा भी वक्त नहीं लगता ! जिनके साथ हम सालो साथ रहे, जीने मरने की कसमे खायी, एक दुसरे से बहुत सारा प्यार किया और आखिर में बब्रेकअप ! सच में ब्रेकअप आसान नहीं होता ! आप भावनाओं और नकारतमकता के भँवर में ख़ुद को फंसा हुआ पाते हैं । अब जो होना होता हे वो तो होक रहता हे लेकिन बात आती हे अपने आप को सम्भालने की ! आज की इस पोस्ट में, में आपको ब्रेकअप होने के बाद क्या करे इसके बारे में बताऊंगा !

क्या करे

१. ब्रेकअप के बाद सबसे बड़ी समस्या यह होती है कि लोग यह मानना नहीं चाहते कि रिश्ता ख़त्म हो चुका है। उन्हें लगता है कि यह कुछ दिन की समस्या है और सबकुछ फिर से पहले जैसा ठीक ठाक हो जाएगा। कुछ समय के लिए ऐसा सोचना ग़लत नहीं है लेकिन इससे इस समस्या का समाधान नहीं हो सकता। 
एक बार जब सब ख़त्म हो जाए तो आपके साथी का फिर से लौटना शायद सम्भव ना हो। यह ख़याल तकलीफ़देह ज़रूर है लेकिन इसे समझ लेना ही आपके लिए बेहतर है। जो चला गया उसके लोटने के आसार बहुत कम होते हे ! हमें यह मानना पड़ेगा की वो हमसे अलग हो चूका हे !

२. आप जीवन में पहले ऐसे व्यक्ति नहीं हे जिसका दिल टुटा हे ! इस बारे में अपने दोस्तों और परिवार वालो से बात करे ! अपनी फीलिंग शेयर करे ! कहते हे दर्द बाँटने से घटता हे और खुशियाँ बाँटने से बढती हे ! आप उस दोस्त या उस रिश्तेदार से सम्पर्क करे जिन्हें आप ज्यादा मानते हे या जिनके आप क्लोज हे ! उनसे सलाह ले !

३. व्यायाम करना अपने ग़ुस्से को सही जगह लगाने का सबसे अच्छा उपाय है। यह आपको शारीरिक रूप से बेहतर तो महसूस कराएगा ही, साथ ही यह एंडोर्फिन्स प्रवाहित करेगा जिससे आप ख़ुश महसूस कर सकेंगे और दूसरी सकारात्मक बातों की तरफ़ ध्यान दे सकेंगे।

४. आप थोड़े दुखी हैं इसका यह अर्थ नहीं कि आपको ख़ुद को नज़रअन्दाज़ करें। स्वस्थ खाएँ, घर के बाहर समय व्यतीत करें, कोई पुराना शौक़ या खेलकूद फिर शुरू करें। इससे आपको उबरने में काफ़ी मदद मिलेगी।

६. अब जो बीत चूका वो तो गया अब आगे भविष्य की योजना बनाये ! चाहे योजना अगले शनिवार को अपने ख़ास दोस्तों के साथ बाहर जाने की हो या फिर किसी छुट्टी पर जाने की, योजना बनाने से आप सकारात्मक महसूस करेंगे। ये नयी यात्रा और योजना आपको नए लोगों से मिलाएँगी और आप समझ पाएँगे की आप अपने पूर्व प्रेमी/प्रेमिका के बिना भी ख़ुश रह सकते हैं।

७. जब आप फिर से नए रिश्ते के लिए तैयार महसूस करें तो सब्र से काम लें और जल्दबाज़ी ना करें। सिर्फ़ अकेलापन दूर करने के लिए रिश्ते में कूद पड़ने की जल्दबाज़ी ना करें।

८. सम्भव है कि आपको यह क़दम थोड़ा बचपने का लगे लेकिन बार बार फ़ेस्बुक पर वो आपके सामने आएँ, इससे बेहतर है कि आप उन्हें अपनी दोस्तों की सूची से निकाल दें।

९. ब्रेकअप काफ़ी तकलीफ़देह होते हैं और इनसे उबरने के लिए जो दुःख मनाना है मनाएँ। आइस क्रीम के दस पैकेट खाएँ, रोमांटिक मूवी देखकर आँसू बहाएँ या वक़्त बेवक्त अपने सबसे अच्छे दोस्त को फ़ोन करें( या ये सब एक साथ एक समय पर करें) ज़रूरी है कि अपने अन्दर के दुःख को निकाल बाहर किया जाये।

अपने आप को मजबूत बनाये और हमेशा खुश रहे ! किसी ने सच ही कहा हे की :-

“जब हम उसे खो देते हे जिसे हम कभी खोना नहीं चाहते तो यकीन मानिये भगवान हमें उस इंसान से भी मिलाता हे जिसकी हमने कल्पना भी नहीं की होती हे !”

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..