Mahatma gandhi history biography- भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के पितामह के रूप में जाने वाले गांधी जी की लाइफ की हर बात का हम विस्तार से जानेंगे कुछ प्रमुख बाते निम्न है -
  • गांधी जी अपने भाई बहिनो में सबसे छोटे थे उनके दो भाई और एक बहन थी
  • महत्मा दिया हुआ नाम हे उनका नाम मोहन दास है  
  • गांधी जी के पिता धार्मिक रूप से हिंदू तथा जाति से मोधबनिया थे
  • गांधी जी ने राजकोट अल्फ्रेड हाई स्कूल, से पढ़ाई की थी
  • गांधी जी की मातृभाषा गुजराती थी 
  • गांधी जी के निजी सचिव माधव देसाई थे
महात्मा गांधी का पूरा नाम मोहन दास करमचंद गांधी था उनका जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। उनके पिता का नाम करमचंद गांधी व माता का नाम पुतलीबाई था। महात्मा गांधी का विवाह मात्र तेरह वर्ष की आयु में ही कस्तूरबा के साथ हो गया था। उनके चार बेटे हरीलाल, मनीलाल, रामदास व देवदास थे।

महात्मा गाँधी के अनमोल विचार -famous quotes in hindi
  • Hindi Thought: क्रोध एक प्रचंड अग्नि है, जो मनुष्य इस अग्नि को वश में कर सकता है, वह उसको बुझा देगा | जो मनुष्य इस अग्नि को वश में नहीं कर सकता, वह स्वंय अपने को जला लेगा |
  • अनमोल वचन: राष्ट्रीय व्यवहार में हिन्दी को काम में लाना देश की उन्नति के लिए आवश्यक है |
  • Hindi Quote: गरीबी अभिशाप नहीं बल्कि मानवरचित षडयन्त्र है।
  • Hindi Thought: जो लोग अपनी प्रशंसा के भूखे होते हैं, वे ये व्यक्त करते हैं कि उनमें योग्यता नहीं है|
  • अनमोल विचार: पुस्तकों का मूल्य रत्नों से भी अधिक है, क्योंकि पुस्तकें अन्तःकरण को उज्ज्वल करती हैं |
  • Hindi Quote: हम दबाव से अनुशासन नहीं सीख सकते |
  • सुविचार: चरित्र की शुद्धि ही ज्ञान का लक्ष्य होनी चाहिए |
  • Hindi Quote : भूल करने में पाप तो है ही, परंतु उसे छिपाने में उससे भी बड़ा पाप है |
  • अनमोल वचन: क्रोध को जीतने में मौन सबसे अधिक सहायक है|
  • सुविचार: वास्तविक सुन्दरता ह्रदय की पवित्रता में है|
  • प्रेरक विचार: अहिंसा ही धर्म है, वही जिंदगी का एक रास्ता है| 
  • Hindi Quote: प्रेम की शक्ति, हिंसा की शक्ति से हजार गुनी प्रभावशाली और स्थायी होती है|
  • अनमोल वचन: जो समय बचाते हैं, वे धन बचाते हैं और बचाया हुआ धन, कमाएं हुए धन के बराबर है|
  • प्रेरक विचार: पाप से घृणा करो, पापी से नहीं|


  • Hindi Quotes: कुछ लोग सफलता के सपने देखते हैं जबकि कुछ लोग जागते हैं और कड़ी मेहनत करते हैं|
  • सुविचार: ईशवर न काबा में है न काशी में है, वह तो घर – घर में व्याप्त है, हर दिल में मौजूद है |
  • Anmol Vachan: मनुष्य को अपनी ओर खींचनेवाला यदि जगत में कोई असली चुम्बक है, तो वह केवल प्रेम है |
  • Suvichar: भगवान ने मनुष्य को अपने ही समान बनाया, पर दुर्भाग्य से इन्सान ने भगवान को अपने जैसा बना डाला |
  • Hindi Thought: परमेश्वर सत्य है; यह कहने के बजाय ‘सत्य ही परमेश्वर है’ यह कहना अधिक उपयुक्त है |
  • Hindi Quote: वास्तविक सौंदर्य ह्रदय की पवित्रता में है | 
  • सुविचार: ह्रदय कि कोई भाषा नहीं होती है| ह्रदय, ह्रदय से बातचीत करता है | 

लंदन प्रस्थान - 1888 में महात्मा गांधी कानून की शिक्षा प्राप्त करने के लिए लंदन गये।

दक्षिण अफ्रीका
मई 1893 मे वह वकील के तौर पर काम करने दक्षिण अफ्रीका गये। वंहा उन्होंने नस्लीय भेदभाव का पहली बार अनुभव किया। जब उन्हे टिकट होने के बाद भी ट्रेन के प्रथम श्रेणी के डिब्बे से बाहर धकेल दिया गया क्योंकि यह केवल गोरे लोगों के लिए आरक्षित था। किसी भी भारतीय व अश्वेत का प्रथम श्रेणी मे यात्रा करना प्रतिबंधित था। इस घटना ने गांधी जी पर बहुत गहरा प्रभाव डाला और उन्होंने नस्लीय भेदभाव के विरूध संघर्ष करने की ठान ली। उन्होंने देखा कि भारतीयों के साथ यहां अफ्रीका में इस तरह की घटनाएं आम हैं। 22 मई 1894 को गांधी जी ने नाटाल इंडियन कांग्रेस की स्थापना की और दक्षिण अफ्रीका में भारतीयों के अधिकारों के लिए कठिन परिश्रम किया। बहुत ही कम समय में गांधी जी अफ्रीका में भारतीय समुदाय के नेता बन गये।

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में भूमिका
1915 मे गांधी जी भारत लौट आये और अपने गुरू समान श्री गोपालकृष्ण गोखले के साथ इंडियन नेशनल कांग्रेस में शामिल हो गये। गांधी जी की पहली बड़ी उपलब्धि बिहार और गुजरात मे चंपारन व खेड़ा के आंदोलन थे। उन्होंने असहयोग आंदोलन,सविनय अवज्ञा आंदोलन,भारत छोड़ो आंदोलन का भी नेतृत्व किया था।

मृत्यु
नाथूराम गोडसे ने 30 जनवरी 1948 को महात्मा गांधी की हत्या की थी। गोडसे एक हिंदू राष्ट्रवादी और हिंदू महासभा सदस्य था। उसने गांधी पर पाकिस्तान का पक्ष लेने का आरोप लगाया तथा वह गांधी के अंहिसावादी सिद्धांत का विरोधी था।

 लेखन 
गांधी जी एक विपुल लेखक थे। उनके द्वारा लिखी गयी कुछ पुस्तकें निम्न है-
• हिंद स्वराज , 1909 मे गुजराती में प्रकाशित हुई।
• उन्होंने हिंदी ,गुजराती और इंग्लिश के अनेक समाचार पत्रों का संपादन किया। जिनमें हिंदी व गुजराती मे हरिजन , इंग्लिश मे यंग इंडिया व गुजराती पत्रिका नवजीवन प्रमुख हैं।
• गांधी जी ने अपनी आत्मकथा ‘’सत्य के प्रयोग’’ भी लिखी।
• उनकी अन्य आत्मकथओं में दक्षिण अफ्रीका में सत्याग्रह , हिंद स्वराज आदि प्रमुख हैं

 पुरस्कार 
• टाईम मेगज़ीन ने वर्ष 1930 में मैन ऑफ दी इयर चुना।
• 2011 मे टाईम मैगजीन ने गांधी जी को विश्व के लिए हमेशा प्रेरणा स्रोत रहे श्रैष्ठ पच्चीस राजनीतिक व्यक्तियों मे चुना।
• हालांकि उन्हे कभी नोबल पुरस्कार नहीं मिला लेकिन वह इसके लिए 1937 से लेकर 1948 तक पांच बार नामित किये गये
• भारत सरकार प्रतिवर्ष सामाजिक कार्यकर्ताओं,विश्व नेताओं व नागरिकों को गांधी शांति पुरस्कार से नवाज़ती है। दक्षिण अफ्रीका मे रंगभेद के खिलाफ संघर्ष करने वाले नेता नेल्सन मंडेला को इस पुरस्कार से नवाजा जा चुका है।

फिल्म
गांधी जी पर 1982 बनी फिल्म , जिसमे बेन किंग्सले ने गांधी का रोल किया है, ने ऑस्कर में बेस्ट पिक्चर का पुरस्कार जीता।

सत्याग्रह
गांधी ने अपने अहिंसा के सिध्दांत को सत्याग्रह के रूप में पहचान दिलायी। गांधी जी के सत्याग्रह ने अनेक हस्तियों को प्रभावित किया। स्वतंत्रता,समानता और समाजिक न्याय अपने संघर्ष मे नेल्सन मंडेल व मार्टिन लूथर किंग गांधी जी से प्रभावित थे। सत्याग्रह सच्चे सिध्दांतो व अहिंसा पर आधारित है।

check que?.ans

  1. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..