जिंदगी में कुछ मोके ऐसे होते हे जो हाथ से निकल जाते हे और उन्हें ना पाने का अहसास हम सबको होता हे ! लेकिन समय बीत जाने के बाद कुछ भी नहीं किया जा सकता और यही बाते निराशा को जन्म देती हे ! लेकिन भविष्य में इस तरह की निराशा से बचने की तेयारी की जा सकती हे ! आज की इस पोस्ट में, में आपको निराशा से बचने के 10 टिप्स बता रहा हु जिन्हें अपनाकर आप निराशा से बच सकते हे !

Nirasha Se Bachne Ke 10 Tips sad feeling

१. आप क्या करना चाहते हे

सबसे पहले यह जानिए की आप क्या करना चाहते हे ! इसमें केवल अपने दिल की सुनिए, दूसरों को देखके कोई फैसला ना करें ! इस से आप अपने जीवन से संतुष्ट रहेंगे और दुसरो के साथ Relation भी बेहतर बनेंगे !

२. अपने तरीके से जिंदगी जिए

अपनी जिंदगी का रास्ता खुद चुने क्योकि भगवान ने हमें एक हसीन जिंदगी दी हे ! इसलिए दुसरो से प्रभावित होकर कोई फैसला ना करे ! जरुरी नहीं की दुसरो का बताया रास्ता आपके लिए सही हो ! दुसरो के बताये तरीके से जीने से अच्छा अपने तरीके से मरना अच्छा हे !

३. सोचने से नहीं करने से होता हे

बेहतर जीवन के सपने देखने भर से कुछ नहीं हो सकता ! इसके लिए कोशिश करनी होती हे ! दुसरो के भरोसे ना बेठे ! केवल काम करने से कुछ नहीं होता, सही काम करने से जीवन बेहतर होता हे ! किसी ने सही ही कहा हे की बिना कोशिश करने वालो को उतना ही मिलता हे जितना कोशिश करने वाले छोड़ देते हे !

४. वर्तमान को पहचाने

अपनी धुन में हम कहा से कहा पहुँच जाते हे, लेकिन हमें पता भी नहीं चलता ! समय की धारा में बहते हुए हम वर्तमान ही भूल जाते हे ! वर्तमान में जीना जितना जरुरी हे, उतना आसान भी हें ! अपने अतीत की चिंता ना करे और भविष्य के बारे में ज्यादा ना सोचे ! सिर्फ और सिर्फ वर्तमान में जियें !

५. हर परिस्थिति में उदार बने रहे

आप जीवन में उन लोगो को जरुर याद रखते हे जिन्हीने मुश्किल समय में भी आपका साथ दिया हो ! आपके लिए उदार बने रहे ! खुद भी उनके जेसा बनने की कोशिश करें ! जंहा तक सम्भव हो सबके लिए उदार बने रहें !

६. खुद से प्यार कीजिये

हम दुसरो से प्यार की अपेक्षा रखते हे, लेकिन खुद से प्यार नहीं करते ! खुद से प्यार करेंगे तो दुसरो के प्यार की बेहतर पहचान होगी ! आप भी अपने प्यार को बेहतर तरीके से व्यक्त कर पाएंगे ! इसलिए हमेशा अपने आप से प्यार करे चाहे कुछ भी हो जाए !

७. पसंद के लोगो के साथ समय बिताये

अपने पसंद के लोगो के साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताएं क्योकि बाद में उनकी छोटी-छोटी बाते भी यादगार बन जाती हे ! काम करना जरुरी हे लेकिन इतना भी नहीं की अपने परिवार और दोस्तों के लिए समय भी ना हो !

८.. अपनी भावनाएं व्यक्त करे

जो जरुरी हो उसे बोलने में परहेज ना करें ! Relation बनायें रखे या भविष्य में परेशानी के डर से अपनी Feeling को दबाने का कोई फायदा नहीं हे !

९. अपनी इज्जत करे

परिवार, दोस्त या सहकर्मीयों से सम्मान की अपेक्षा करने से पहले अपनी इज्जत करना सिखियें ! जो आपका सम्मान नहीं करते, उनसे Relation बनाये रखना भी घाटे का सोदा हे !

१०. बीती बातो को भुला दे

जीवन एक कहानी की तरह हे ! अध्याय बदलते रहते हे, लोग सम्पर्क में आते हे फिर छुट जाते हे ! बीती बाते और छुटे लोगों को अनावश्यक याद करने का कोई फायदा नहीं हे ! इसलिए बीती बातों को भूल जाये और अपने वर्तमान में खुश रहें !

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..