धार्मिक नगरी उज्जैन मध्यप्रदेश में 22 अप्रैल से 21 मई तक सिंहस्थ महाकुंभ आयोजित होने जा रहा है. इस सबसे बड़े धार्मिक मेले में भाग लेने के लिए साधु-संत, नेता, अधिकारी समेत देश-दुनिया की कई हस्तियां पहुंचती हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी वर्ष 2004 में गुजरात के मुख्यमंत्री रहने के दौरान सिंहस्थ में पहुंचे थे. जहां उन्होंने मोक्षदायिनी पवित्र नदी क्षिप्रा में डुबकी लगाई और साधु-संतों से आशीर्वाद लिया था. अब मोदी की डुबकी लगाने वाली तस्वीरें वारयल हो गई हैं. देखिए, कैलाश विजयवर्गीय के साथ बोटिंग करते हुए नरेंद्र मोदी....
मध्यप्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन में उज्जैन में 22 अप्रैल से 21 मई तक सिंहस्थ महाकुंभ आयोजित होने जा रहा है. इस सबसे बड़े धार्मिक मेले में भाग लेने के लिए साधु-संत, नेता, अधिकारी समेत देश-दुनिया की कई हस्तियां पहुंचती हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी वर्ष 2004 में गुजरात के मुख्यमंत्री रहने के दौरान सिंहस्थ में पहुंचे थे. जहां उन्होंने मोक्षदायिनी पवित्र नदी क्षिप्रा में डुबकी लगाई और साधु-संतों से आशीर्वाद लिया था. अब मोदी की डुबकी लगाने वाली तस्वीरें वारयल हो गई हैं. देखिए, कैलाश विजयवर्गीय के साथ बोटिंग करते हुए नरेंद्र मोदी....
हर 12 साल में लगने वाला सिंहस्थ पिछली बार वर्ष 2004 में आयोजित हुआ था. उस दौरान एमपी के कैबिनेट मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को क्षिप्रा में बोटिंग करवाई थी. मौजूदा समय में नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं और कैलाश वियजवर्गीय भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव हैं.
 इन दिनों सोशल मीडिया पर वारयल तस्वीरों में देखा जा सकता है कि धर्मपरायण मोदी ने उस दौरान क्षिप्रा नदी में काफी देर तक पर्व स्नान किया. मोदी भगवा रंग के कुर्ते में नजर आ रहे हैं और क्षिप्रा में बड़ी इत्मिनान से डुबकी लगा रहे हैं.
 इन दिनों सोशल मीडिया पर वारयल तस्वीरों में देखा जा सकता है कि धर्मपरायण मोदी ने उस दौरान क्षिप्रा नदी में काफी देर तक पर्व स्नान किया. मोदी भगवा रंग के कुर्ते में नजर आ रहे हैं और क्षिप्रा में बड़ी इत्मिनान से डुबकी लगा रहे हैं.
 हालांकि, उस दौरान वीआईपी अतिथि मोदी के साथ किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैराक मुस्तैद थे. सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे. मोदी ने स्नान के बाद साधु-संतों से आशीर्वाद भी लिया.
हालांकि, उस दौरान वीआईपी अतिथि मोदी के साथ किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैराक मुस्तैद थे. सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे. मोदी ने स्नान के बाद साधु-संतों से आशीर्वाद भी लिया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उज्जैन स्थित बाबा महाकाल के दरबार में भी आ चुके हैं. जहां पुजारियों ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पूरे विधि-विधान से बाबा महाकाल की पूजा करवाई थी.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उज्जैन स्थित बाबा महाकाल के दरबार में भी आ चुके हैं. जहां पुजारियों ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पूरे विधि-विधान से बाबा महाकाल की पूजा करवाई थी.
इस बार भी प्रसिद्ध धार्मिक नगरी उज्जैन में अप्रैल-मई महीने में होने वाले सिंहस्थ-2016 के दौरान आगामी 12 से 14 मई तक ग्राम निनोरा में अंतर्राष्ट्रीय वैचारिक महाकुंभ का आयोजन भी होगा. इसका उद्घाटन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर संघचालक मोहन भागवत करेंगे, जबकि समापन सत्र के मुख्य अतिथि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शामिल होंगे.

check que?.ans

इस कमेंट्स बॉक्स में आपके मन में कोई सवाल हो तो पूछे उचित जवाब देने का हमारा प्रयास रहेगा..